आज का पंचांग 19 जुलाई 2021 सोमवार आषाढ़ शुक्ल पक्ष, दशमी जानें कब है शुभ मुहूर्त और राहुकाल 

panchang

Newspoint 24 / newsdesk

ज्योतिषाचार्य गुरु बेचन त्रिपाठी ,दुर्गा मंदिर ,दुर्गा कुंड , वाराणसी

पंचांग 19 जुलाई 2021 सोमवार

सूर्योदय    05:19 प्रातः 
    सूर्यास्त    06:50 सायं 
चन्द्रोदय    02:03 दोपहर 
    चन्द्रास्त    01:18 मध्यरात्रि , जुलाई 20

तिथि    दशमी - 09:59 रात्रि तक उपरांत एकादशी    
नक्षत्र    विशाखा - 10:27 रात्रि तक उपरांत अनुराधा
योग    शुभ - 10:52 रात्रि तक उपरांत शुक्ल
करण    तैतिल - 11:16 प्रातः  तक     उपरांत गर - 09:59 रात्रि  तक उपरांत वणिज
वार    सोमवार        
पक्ष    शुक्ल पक्ष          


चन्द्र मास एवं सम्वत
शक सम्वत    1943 प्लव    
विक्रम सम्वत    2078 आनन्द        
 चन्द्रमास    आषाढ़ - पूर्णिमान्त
आषाढ़ - अमान्त
वैदिक ऋतु - ग्रीष्म
द्रिक ऋतु - वर्षा


चन्द्र     तुला राशि पर  04:54 दोपहर  तक उपरांत वृश्चिक    
सूर्य     कर्क    राशि पर 


ब्रह्म मुहूर्त    03:55 प्रातः  से 04:37 प्रातः तक 
प्रातः सन्ध्या    04:16 प्रातः से 05:19 प्रातः तक 
सायाह्न सन्ध्या    06:50 सायं  से 07:53 रात्रि तक
अभिजित मुहूर्त    11:37 दोपहर पूर्व से 12:31 दोपहर तक 
विजय मुहूर्त    02:19 दोपहर से 03:13 दोपहर तक 
गोधूलि मुहूर्त    06:36 सायं  से 07:00 सायं 
अमृत काल    02:16 दोपहर से  03:46 दोपहर तक 
निशिता मुहूर्त    11:43 दोपहर पूर्व से  12:25 दोपहर तक  , जुलाई 20
सर्वार्थ सिद्धि योग    10:27 रात्रि से 05:19 प्रातः तक , जुलाई 20
रवि योग    05:19 प्रातः से 10:27 दोपहर तक उपरांत  05:00 प्रातः , जुलाई 20 से 05:19 प्रातः , जुलाई 20 तक 


राहू - 7:03 प्रातः से  – 8:43 प्रातः 
यम गण्ड - 10:23 प्रातः से   – 12:04 दोपहर तक 
कुलिक - 1:44 दोपहर से  – 3:24 दोपहर तक
दुर्मुहूर्त - 12:31 दोपहर  – 01:24 दोपहर तक, 03:11 दोपहर तक – 04:04 दोपहर तक
वर्ज्यम् - 02:08 प्रातः से – 03:36 प्रातः तक 


होमाहुति    शनि
दिशा शूल    पूर्व
अग्निवास    आकाश - 09:59 रात्रि तक उपरांत पाताल 
चन्द्र वास    पश्चिम - 04:54 सायं तक उपरांत उत्तर - 04:54 दोपहर से पूर्ण रात्रि तक
राहु वास    उत्तर-पश्चिम
शिववास    सभा में - 09:59 रात्रि तक उपरांत क्रीड़ा में

इन राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम 04:54 दोपहर तक
मेष  वृषभ  सिंह  तुला  धनु  मकर
मीन राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
पूर्व भाद्रपद के अन्तिम पद, उत्तर भाद्रपद, रेवती में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र


 

Share this story