योगी सरकार ने चिकित्सा स्वास्थ्य के लिए 29165 करोड़, चिकित्सा शिक्षा के लिए लगभग 9710 करोड़ रुपए आवंटित किए 

Yogi government allocated 29165 crores for medical health, about 9710 crores for medical education
ब्रजेश पाठक ने बताया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में योगी सरकार ने चिकित्सा स्वास्थ्य के लिए 29165 करोड़ रुपए तथा चिकित्सा शिक्षा के लिए लगभग 9710 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। वर्तमान सरकार ने न सिर्फ बजट को बढ़ाया बल्कि निगरानी तंत्र को मजबूत करते हुए बजट में बंदरबांट और भ्रष्टाचार पर भी नकेल कसी है। उत्तर प्रदेश में आज 35 सरकारी क्षेत्र तथा 30 निजी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज हैं, जबकि वर्ष 2017 से पहले प्रदेश के कुछ ही जनपदों में मेडिकल कॉलेज थे।

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ
  

  • चिकित्सा शिक्षा के लिए आवंटित किए गए 9710 करोड़ रुपये
  • प्रदेश में आज 35 सरकारी तथा 30 निजी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज उपलब्ध : उप मुख्यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बुधवार को विधानसभा में बोलते हुये कहा कि प्रदेश में योगी सरकार जनहित में कार्य कर रही है। सरकार जनता जनार्दन के हितों के लिये प्रयत्नशील भी है। प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर किया जा रहा है। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के बजट में इजाफा किया गया है।

ब्रजेश पाठक ने बताया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में योगी सरकार ने चिकित्सा स्वास्थ्य के लिए 29165 करोड़ रुपए तथा चिकित्सा शिक्षा के लिए लगभग 9710 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। वर्तमान सरकार ने न सिर्फ बजट को बढ़ाया बल्कि निगरानी तंत्र को मजबूत करते हुए बजट में बंदरबांट और भ्रष्टाचार पर भी नकेल कसी है। उत्तर प्रदेश में आज 35 सरकारी क्षेत्र तथा 30 निजी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज हैं, जबकि वर्ष 2017 से पहले प्रदेश के कुछ ही जनपदों में मेडिकल कॉलेज थे।

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि आज प्रदेश के 14 जिलों को छोड़कर शेष सभी जनपदों में मेडिकल कॉलेज उपलब्ध है अथवा निर्माणाधीन हैं। शीघ्र ही प्रदेश के सभी जनपद मेडिकल कालेज से आच्छादित होंगे। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 18 सरकारी मेडिकल कालेज खुले हैं।

ब्रजेश पाठक ने कहा कि प्रदेश में मेडिकल कालेज व उनमें सीटों की संख्या को दोगुनी की गयी है। वर्ष 2017 से पहले प्रदेश में जहां एमबीबीएस की सरकारी क्षेत्र में 1840 सीटें तथा निजी क्षेत्र में 3550 सीटें उपलब्ध थी वहीं आज सरकारी क्षेत्र में 3828 व निजी क्षेत्र में 4600 सीट उपलब्ध है। इसके अलावा आज रायबरेली एम्स में 100 सीट तथा गोरखपुर एम्स में 125 सीट के अतिरिक्त अलीगढ़ एवं बीएचयू में भी पर्याप्त सीटें उपलब्ध हैं।

सरकारी अस्पतालों में प्रतिदिन आते हैं औसतन डेढ़ लाख मरीज

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में एंबुलेंस तथा एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस की संख्या में वृद्धि की गई। एम्बुलेंस के रिस्पांस टाइम को घटाया गया है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के सरकारी चिकित्सालयों में औसतन डेढ़ लाख मरीज प्रतिदिन आते हैं। इन चिकित्सालय में लगभग 12000 मरीज गंभीर एक्सीडेंटल तथा 8000 मरीज गंभीर रोगों से ग्रसित होकर आते हैं। प्रदेश के सरकारी चिकित्सालयों में आज प्रतिदिन लगभग 5000 ऑपरेशन किए जा रहे हैं। यह सब सेवाएं मरीजों को निशुल्क दी जा रही हैं।

ब्रजेश पाठक ने किया 272 अस्पतालों का निरीक्षण

उप मुख्यमंत्री ने सदन को बताया कि सरकार द्वारा अस्पताल व मेडिकल कालेजों की लगातार निगरानी की जा रही है। वे चिकित्सालयों का निरन्तर निरीक्षण कर मरीजों का हालचाल लेने के साथ उन्हें उपलब्ध करायी जा रही चिकित्सीय सेवाओं का जायजा ले रहे है।

अब तक उन्होंने प्रदेश के लगभग 272 हॉस्पिटल का निरीक्षण स्वयं किया है। वर्तमान में प्रदेश में 167 जिला अस्पताल, 873 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, 3650 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं 20551 सब सेंटर उपलब्ध है। सभी जगह चिकित्सक चिकित्सालय में उपस्थित रहकर मरीजों को सेवाएं दे रहे हैं। आज प्रदेश स्वास्थ्य व्यवस्था बेहतर हो रही है और प्रदेश स्वस्थ प्रदेश की ओर तेजी से अग्रसर है।

यह भी पढ़ें : मानसून सत्र : ब्रजेश पाठक सदन में बोलने के लिए खड़े हुए तो सपा सदस्यों ने किया हंगामा
 

Share this story