रायबरेली: दंगल में अंशुल और वीरेंद्र के दांव पर चित्त हुए पहलवान

रायबरेली: दंगल में अंशुल और वीरेंद्र के दांव पर चित्त हुए पहलवान

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

रायबरेली। दिगम्बर अखाड़े के तत्वावधान में एक विराट दंगल का आयोजन स्वामी सूर्य प्रबोध परमहंस इण्टर कालेज अनंगपुरम् रालपुर सरेनी के प्रांगण में किया गया।दो चरणों में हुए आयोजन के पहले चरण में पूज्य स्वामी भास्कर स्वरूप जी महाराज की अध्यक्षता में पितृ पक्ष का मानव जीवन में महत्व एवं युवाओं के मन में उनके प्रति श्रद्धा का भाव कैसे उत्पन्न हो,इस विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।

दूसरे चरण में दूर दूर से आए हुए पहलवानों ने उत्कृष्ट कुश्ती कला का प्रदर्शन करते हुए जनमानस का हृदय जीत लिया।दंगल का उद्घाटन अंशुल पहलवान उन्नाव और सोनू पहलवान फतेहपुर के मध्य कुश्ती से हुआ।

इसमें अंशुल विजयी हुए और उन्हें 1100 रुपए का पुरस्कार प्रदान किया गया।दूसरी बहुत सुन्दर कुश्ती वीरेन्द्र पूरे बल्दी सिंघौरतारा रायबरेली और सर्वेश कानपुर के मध्य हुई।

जिसमें वीरेन्द्र विजयी हुए ,जिन्हें 2100 रुपए का पुरस्कार दिया गया।कैलाश पहलवान पल्टीखेडा़ तथा विपिन उन्नाव के मध्य कुश्ती बराबर रही। दोनों को डेढ़- डेढ़ हजार रूपये दिए गए।

अन्त में रामाशीष बनारस एवं भूपेन्द्र उन्नाव के मध्य रोमांचक कुश्ती देखने को मिली। अपने अपने दाँव पेंच लगाते काटते लगभग आधे घण्टे तक कुश्ती हुई ,पर कोई निर्णय नहीं हो सका।

सभी दर्शकों एवं आयोजक मण्डल द्वारा अन्त में दोनों को बराबर पर छुडाने का निर्णय लिया गया।दोनों का सम्मान करते हुए दोनों को दो – दो हजार रूपये की धनराशि पुरस्कार के रूप में प्रदान की गई।

प्रतियोगिता में ललई सिंह खाण्डे सराय एवं घनश्याम पहलवान जालौन ने निर्णायक की निष्पक्ष भूमिका का सफल निर्वहन किया।

इस अवसर पर पूर्व विधायक धीरेंद्र बहादुर सिंह, कृष्ण शरण सिंह, राजेश फौजी, पवन सिंह, कमलेश प्रधान, बी.डी.सुमन, सुशील यादव आदि की उपस्थिति से कार्यक्रम को भव्यता प्राप्त हुई।अन्त में प्रधानाचार्य सन्तोष कुमार त्रिपाठी ने आए हुए अतिथियों का आभार ज्ञापन किया।

Share this story