एनआईए ने छापेमारी कर उप्र में पीएफआई से जुड़े आठ संदिग्ध पकड़े

एनआईए ने छापेमारी कर उप्र में पीएफआई से जुड़े आठ संदिग्ध पकड़े

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

लखनऊ। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस), आयकर विभाग (ईडी) व स्थानीय पुलिस की सयुंक्त टीमें पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और उनसे जुडे़ लोगों के खिलाफ गुरुवार को देशभर में 106 ठिकानों पर छापेमारी की।

छापेमारी की कड़ी में उत्तर प्रदेश की राजधनी लखनऊ, वाराणसी, बाराबंकी, बहराइच में भी कार्यवाही जारी हैं। इस कार्यवाही में कुल आठ संदिग्ध लोगों को पकड़े गए हैं और उनसे पूछताछ चल रही है।

एनआईए एवं एटीएस की टीम ने टेरर फंडिंग कैंप चलाने के मामले में लखनऊ के इंदिरानगर ए ब्लॉक से मोहम्मद वसीम उर्फ बबलू नाम के एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लिया है। परिवार से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ लोग भोर पहर उनके घर पर आये और बिना बताए वसीम को अपने साथ ले गए हैं।

ऐसी जानकारी मिली है कि टीम को उसके पास से डिजिटल डॉक्यूमेंट और पेन ड्राइव मिला है। एक अन्य युवक को उठाया गया है। दोनों से गुप्त स्थान पर पूछताछ जारी है।

इसी तरह से टीम ने वाराणसी, बहराइच, नोएडा और बाराबंकी में छापेमारी की हैं। वाराणसी के जैतपुरा और आदमपुर से दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है। बहराइच के जरवल कस्बा से बब्बू उर्फ कमरूद्दीन नाम के व्यक्ति को सुबह चार बजे के करीब उठाया है। एक और युवक को भी हिरासत में लेने की खबर है।

इसके अलावा बाराबंकी के गौरहार मजरे बहरौली गांव में छापेमारी करके एक व्यक्ति को पकड़ा है। वह पहले भी पीएफआई से संबंध के आरोप में जेल जा चुका है। हालांकि इस मामले में किसी भी अधिकारी के द्वारा कोई भी बयान सामने नहीं आया है कि पकड़े गए संदिग्धों से पूछताछ व उनके पास से किस तरह से दस्तावेज मिले हैं।
 

Share this story