बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बोले जब वृंदावन,  केदारनाथ में मांस और मदिरा नहीं बिकती तो काशी में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध क्यों नहीं 

Bageshwar Dham Peethadheeshwar Pandit Dhirendra Krishna Shastri said when meat and liquor are not sold in Vrindavan, Kedarnath, then why is there no ban on the sale of meat and liquor in Kashi
भागवत कथा सुनाने के लिए आए पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि अन्य तीर्थ स्थलों में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा हुआ है। वृंदावन में मांस और शराब तीर्थ क्षेत्र के बाहर बिकती है। केदारनाथ में मांस और मदिरा नहीं बिकती है, क्योंकि वह द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक हैं।

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ
 

वाराणसी। बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने काशी में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि काशीवासी यदि हमें दोबारा बुलाना चाहते हैं तो यहां मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगवाने की दक्षिणा दीजिए। काशीवासी संकल्प ले लेंगे तो सरकार जरूर मानेगी और यहां मांस-मदिरा की बिक्री बंद हर हाल में बंद हो जाएगी।

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि अन्य तीर्थ स्थलों में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा हुआ है।

अन्य तीर्थ स्थलों में लगा है प्रतिबंध
भागवत कथा सुनाने के लिए आए पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि अन्य तीर्थ स्थलों में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा हुआ है। वृंदावन में मांस और शराब तीर्थ क्षेत्र के बाहर बिकती है। केदारनाथ में मांस और मदिरा नहीं बिकती है, क्योंकि वह द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक हैं।

फिर, काशी में मांस और शराब क्यों बिकती है...? यहां भी तो द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा विश्वनाथ विराजते हैं। काशी में भी मांस और शराब की बिक्री नहीं होनी चाहिए। काशी के लोग जगह-जगह बैनर और पोस्टर लगाएं कि यहां मांस और शराब नहीं बिकनी चाहिए। उनकी आवाज सरकार तक जरूर पहुंचेगी।

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि जो बुजदिल होगा और जिसकी सनातन हिंदू धर्म के प्रति आस्था नहीं होगी, वही यह नहीं चाहेगा कि काशी में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगे।

जो बुजदिल होगा वही नहीं चाहेगा
पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि जो बुजदिल होगा और जिसकी सनातन हिंदू धर्म के प्रति आस्था नहीं होगी, वही यह नहीं चाहेगा कि काशी में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगे। भागवत कथा सुनने आए लोगों से बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर ने पूछा कि काशी में मांस और शराब की बिक्री पर आप सभी कब तक प्रतिबंध लगवा देंगे...? इस पर लोगों ने कहा कि अधिकतम एक साल में हम लोग सरकार को राजी कर लेंगे कि यहां मांस और शराब न बिके।

यह भी पढ़ें : वाराणसी के डीएम ने होटल, गेस्ट हाउस, लॉज और धर्मशालाओं के लिए जारी की एडवाइजरी, 30 सितंबर तक हर हाल में 8 विभागों से NOC जरूरी

Share this story