गोरखपुर में बाबा का बुलडोजर फिर गरजा : हरिशंकर तिवारी के हाता के अपार्टमेंट की दीवार पर भी बुलडोजर चला ,भू-माफिया ओमप्रकाश पांडेय की 2 करोड़ की संपत्ति जब्त

Baba's bulldozer roared again in Gorakhpur: Harishankar Tiwari's apartment wall was also bulldozed, land mafia Omprakash Pandey's property worth 2 crores seized

शिकायत स्थानीय पार्षद बबलू प्रसाद गुप्ता उर्फ छट्ठीलाल ने की थी। पार्षद की ओर से नगर निगम में की गई शिकायत में कहा गया था कि धर्मशाला बाजार में जलनिकासी और नालियों के सफाई में एक अपार्टमेंट के गेट की दीवार बाधा बन रही है।

गेट के दीवार का बाहरी हिस्सा नाले पर अतिक्रमण कर बनाया गया है। शिकायतकर्ता के मुताबिक, यह अपार्टमेंट तिवारी हाता' परिवार के एक करीबी का है।

Newspoint24/ newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ

गोरखपुर। यूपी में बाबा का बुलडोजर फिर गरजने लगा है। बुधवार को गोरखपुर में भू-माफिया ओमप्रकाश पांडेय की 2 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई। इसके अगले ही दिन गुरुवार को नगर निगम ने अवैध कब्जा और अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया। सरकारी जमीन पर किए गए कब्जे को तोड़ कर हटाया गया। साथ ही धर्मशाला बाजार में बाहुबली पंडित हरिशंकर तिवारी के हाता के अपार्टमेंट की दीवार पर भी बुलडोजर चलाकर उसे गिरा दिया।

शिकायत स्थानीय पार्षद बबलू प्रसाद गुप्ता उर्फ छट्ठीलाल ने की थी। पार्षद की ओर से नगर निगम में की गई शिकायत में कहा गया था कि धर्मशाला बाजार में जलनिकासी और नालियों के सफाई में एक अपार्टमेंट के गेट की दीवार बाधा बन रही है। गेट के दीवार का बाहरी हिस्सा नाले पर अतिक्रमण कर बनाया गया है। शिकायतकर्ता के मुताबिक, यह अपार्टमेंट तिवारी हाता' परिवार के एक करीबी का है।

पार्षद के शिकायत पर ही करीब 3 साल पहले तात्कालीन DM और सिटी मजिस्ट्रेट ने सुमेर सागर पोखरे पर हुए कब्जे को भी खाली कराया था। जिसके बाद एक बार तिवारी परिवार के करीबी पर बाबा का बुलडोजर चल गया। DM के आदेश पर पहुंची नगर निगम की टीम ने धर्मशाला बाजार में नालियों पर हुए अतिक्रमण को ध्वस्त कर दिया।

नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने बताया कि अवैध कब्जा और अतिक्रमण के खिलाफ नगर निगम की ओर से लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में स्थानीय पार्षद की ओर से मिली शिकायत की जांच कराई गई तो मामला सही पाया गया। जिसके बाद एनफोर्समेंट टीम भेजकर अवैध कब्जा हटाया गया। यह अभियान आगे भी लगातार जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें : ताजमहल के 22 कमरों को खोलने वाली याचिका को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने खारिज किया जानें क्या कोर्ट ने

Share this story