अय़्याश बेटे ने खुद को अगवा करने की रची साजिश, पिता को भेजा मैसेज, कहा- 30 लाख नहीं मिले तो कर देंगे 300 टुकड़े

fg

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बर्रा के दामोदर नगर में रहने वाले सिंचाई विभाग में तैनात सींचपाल ने अपने अपहरण की झूठी कहानी रची थी। इस दौरान उसने अपने पिता से 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी।

सींचपाल घर ना जाकर घंटाघर के एक होटल में रुका हुआ था। जब उसके परिजनों ने मंगलवार शाम पुलिस को मामले की जानकारी दी तो पुलिस ने मामले पर फौरन एक्शन लेते हुए सींचपाल का फोन सर्विलांस पर लगाकर रात 12 बजे के आसपास होटल से पकड़ लिया। इस दौरान उसने पुलिस को बताया कि अपने शौक पूरे करने के लिए ऐसा कदम उठाया था। 

महिला मित्र पर खर्च करना चाहता था पैसे

खुद का अपहरण करने और पिता से फिरौती मांगने के आरोप में पुलिस ने सींचपाल सोमेंद्रनाथ तिवारी को बीते बुधवार को जेल भेज दिया। पुलिस जांच में पता चला कि आरोपी ने क्राइम सीरियल देखकर खुद को अगवा करने की साजिश रची थी।

पिता से पैसे वसूल कर वह अय्याशी की जिंदगी जीना चाहता था। आरोपी ने बताया कि वह अपनी महिला मित्र पर भी यह पैसे खर्चा करना चाहता था। आरोपी ने परिजनों को व्हॉट्सएप खुद के अगवा होने की जानकारी दी।

इसके बाद आरोपी ने व्हॉटस्एप पर ही 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। डीसीपी साउथ प्रमोद कुमार ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी सोमेंद्र अपनी महिला मित्र पर खूब पैसे उड़ाता रहता है। 

पुलिस ने होटल के युवक को किया गिरफ्तार

फिरौती मांगने के दौरान जब परिजनों ने पूछा कि वह कैसे यकीन करें कि उनका बेटा अगवा हो गया है तो उसने अपना वीडियो बनाकर भी भेजा था। साथ ही उसने अपने घरवालों को धमकाते हुए कहा था कि अगर 30 लाख नहीं दिए तो तुम्हारे बेटे के 300 टुकड़े कर देंगे।

पुलिस ने जब आरोपी सोमेंद्र से पूछा कि 300 टुकड़े करने बात दिमाग में कहां से आई तो उसने बताया कि न्यूज पेपर में उसने खबर पढ़ी थी कि एक शख्स ने अपनी महिला मित्र के 35 टुकड़े कर दिए।

जब आरोपी के परिजन ने 30 लाख देने से इंकार कर दिया तो सोमेंद्र रकम कम करने लगा और बाद में वह 10 लाख रुपए में तैयार हो गया। डीसीपी साउथ प्रमोद कुमार ने बताया कि सिंचाई विभाग के कर्मचारी सोमेंद्र पर धोखाधड़ी, खुद की मौत का भय दिखाकर वसूली करने समेत अन्य धाराएं लगा कर केस दर्ज कर लिया गया है।

Share this story