पराली न जलाने को लेकर निकाली गई जागरूकता रैली

पराली न जलाने को लेकर निकाली गई जागरूकता रैली

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

कानपुर देहात। धान की कटी फसल के बाद पराली न जलाने को लेकर अकबरपुर कस्बे में बुधवार को स्कूली छात्र-छात्राओं ने जागरूकता रैली निकाली। रैली का निर्देशन पर्यावरण मित्र एवं राज्य अध्यापक नवीन कुमार कर रहे थे।

झींझक के सरस्वती शारदा विद्या मंदिर की प्रधानाचार्य अर्चना की अगुवाई में पराली न जलाएं रैली का आयोजन किया गया। इस दौरान उन्होंने बताया की फसल अवशेष या अपशिष्ट जलाने से हमारे मंडल में कार्बन डाई ऑक्साइड कार्बन मोनोऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, नाइट्रिक ऑक्साइड तथा अमोनिया के कण हवा में घुलकर अस्थमा खुजली आंखों का लाल होना सांस लेने में परेशानी, दमा, दिमाग में ऑक्सीजन की कमी बच्चों का पढ़ाई में मन ना लगना तथा हृदय की बीमारी का कारण बनते हैं।

पर्यावरण मित्र एवं राज्य अध्यापक नवीन कुमार दीक्षित ने बच्चों को बताया कि जिस स्थान पर पराली जलाते हैं, उस जगह के लाभदायक ह्यूमस नष्ट होने से उर्वरा शक्ति नष्ट हो जाती है। साथ ही धुएं से पृथ्वी के आसपास ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती है, जिससे पृथ्वी पर पाई जाने वाली अनेक प्रजातियां धीरे-धीरे विलुप्त हो रही है।

पराली ना जलाओ की यह रैली मंडी समिति से प्रारंभ होकर अकबरपुर रोड, पावर हाउस हीरानगर होते हुए इंद्रपाल कुशवाहा के मकान पर आकर समाप्त हुई। रैली में बच्चे नारे लगा रहे थे पराली नहीं जलाएंगे इसका कंपोस्ट बनाकर ऊसर भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ाएंगे।

Share this story