वाराणसी में गर्मी से 34 मौत:अस्पतालों की इमरजेंसी और OPD फुल

वाराणसी में गर्मी से 34 मौत:अस्पतालों की इमरजेंसी और OPD फुल

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

 

वाराणसी । भीषण गर्मी के चलते लोगों का हाल बेहाल है। सोमवार को जिले में 34 लोगों की मौत हुई। अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की कतार लगी है। वहीं, मंडलीय अस्पताल में इसकी वजह से 107 और जिला अस्पताल में 93 नए मरीजों को भर्ती कराया गया। काशी विश्वनाथ धाम में 1 सुरक्षाकर्मी चार श्रद्धालु अचेत हो गए। जिन्हें अस्पताल ले जाया गया। सीएमओ आफिस के रिकार्ड में पूरे जनपद में हीट स्ट्रोक के 446 मरीज भर्ती हुए हैं।

इधर, मौत के बाद शिवपुर पोस्टमॉर्टम हाउस कुल 35 शव पहुंचे। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारणों की पुष्टि होगी।

मंडलीय अस्पताल में सबसे ज्यादा मरीज हुए भर्ती।

(मंडलीय अस्पताल में सबसे ज्यादा मरीज हुए भर्ती।)

 

अस्पताल सबसे ज्यादा पहुंच रहे ब्लड प्रेशर के मरीज

अस्पतालों की ओपीडी और इमरजेंसी में पिछले एक सप्ताह से मरीजों की संख्या कम नहीं हो रही है। इसमें बड़ों के साथ ही बच्चे भी पहुंच रहे हैं, जिनकी तबीयत बिगड़ रही है। डॉक्टरों के अनुसार सबसे अधिक खतरा उन लोगों को हैं, जो पहले से हृदय रोगी हैं और बीपी की दवा चल रही है। जिला अस्पताल के CMO डॉ एसपी सिंह ने का कहना है कि गर्मी की वजह से ब्लड प्रेशर अनियंत्रित हो जाता है।

सामान्य तौर पर ओपीडी में भी 50 साल से अधिक उम्र वाले 20 से 30 लोग आ रहे हैं, जिनका ब्लड प्रेशर 150 से अधिक मिल रहा है जबकि स्वस्थ व्यक्ति के लिए यह 130/80 होना चाहिए। एसआईसी डॉ. एसपी सिंह का कहना है कि पिछले एक सप्ताह से हर दिन ओपीडी, इमरजेंसी मिलाकर 1200 से अधिक मरीज आ रहे हैं। इसमें 300 से 400 लोग उल्टी-दस्त, सिरदर्द, बेहोशी, तेज बुखार, बेचैनी आदि की शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं।

मरीजों के इलाज में लगे डाक्टर एवं नर्सिंग स्टाफ।

( मरीजों के इलाज में लगे डाक्टर एवं नर्सिंग स्टाफ।)

शहर और गांव के अलग अलग क्षेत्रों में 34 लोगों की हुई मौत

जिला अस्पताल में सात लोगों की मौत हो गई। इसमें चार लोग तो अस्पताल के गेट पर आते ही मर गए। मरने वालों में लालजी गुप्ता (85), मलखान (53), शोभनाथ यादव (65), शुभावती देवी (65), भोलेनाथ (65) और दो अज्ञात लोग हैं। इसके आलावा दशाश्वमेध थाना क्षेत्र में भीषण गर्मी के चलते तीन अलग अलग स्थानों पर लोगों की मौत हो गई। बांसफाटक सोना गली के पास 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई।

चितरंजन पार्क के पास एक व्यक्ति बेहोश पड़ा था। पास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची और उसको उठाने का प्रयास किया तो नहीं उठा, उसकी मौत हो गई। दशाश्वमेध घाट के पास एक मंदिर के बाहर 70 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। अस्सी घाट के पास मुमुक्षु भवन के पास 50 वर्षीय भिखारी का शव सोमवार देर शाम को मिला है।

Share this story