उत्तराखंड में भारी बारिश से बढ़ी मुसीबतें:मानसून की पहली बारिश में बहे सरकार के इंतजाम

उत्तराखंड में भारी बारिश से बढ़ी मुसीबतें:मानसून की पहली बारिश में बहे सरकार के इंतजाम

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

 

देहरादून । उत्तराखंड में मानसून सीजन की पहली बारिश ने सरकार की व्यवस्थाओं की पोल खोल दी। सरकार के सभी दावे और इंतजाम बारिश का पानी बहा ले गया। राजधानी देहरादून से लेकर प्रदेश के पर्वतीय जिलों में बारिश से लोग मुसीबत में है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सबसे ज्यादा परेशानी चार धाम यात्रा पर आने वाली यात्रा हो रही है। लैंडस्लाइड की वजह से प्रदेश भर में 95 के करीब सड़के बंद हो गई हैं। पीडब्ल्यूडी ने सुबह तक तकरीबन 30 सड़के खोल दी हैं। बाकी को खोलने का काम जारी है।

बदरीनाथ हाईवे पर अवरुद्ध मार्ग को जेसीबी के माध्यम से खोलते अधिकारी

(बदरीनाथ हाईवे पर अवरुद्ध मार्ग को जेसीबी के माध्यम से खोलते अधिकारी)

 

बदरीनाथ हाईवे पर यातायात अवरुद्ध

बदरीनाथ हाईवे पर पागल नाले से मालबा आने के कारण यातायात अवरुद्ध हो गया है। बदरीनाथ धाम जाने वाले यात्रा वाहनों को पीपलकोटी, पाखी, तांगनी में रोका गया है। हाईवे से मलबा हटाने का काम जारी है। यहां स्थानीय लोगों के साथ साथ बद्रीनाथ धाम जाने वाले लोगों को सड़क खुलने के लिए कई घंटे इंतजार करना पड़ रहा है। वहीं यमुनोत्री हाईवे ओजरी डाबरकोट के पास मलबा बंद हो गया था। जिसमे दोनों ओर से दर्जनो वाहन फंसे गए। फिलहाल NH ने सड़क से मालवा हटाकर वाहनों की आवाज ही शुरू कर दी है।

लैंसडौन क्षेत्र में कई ग्रामीण सड़क के बंद

इसके अलावा पौड़ी जिले के लैंसडौन क्षेत्र में कई ग्रामीण सड़क बंद होने की सूचना है। लैंसडौन की दो और दुगड्डा की चार सड़कें बंद हो गईं। सड़कें बंद होने से दर्जनों गांवों का सड़क संपर्क कट गया है।जिनको लोक निर्माण विभाग द्वारा खोलने का काम किया जा रहा है। ग्रामीण लोगों को सड़के बंद होने की वजह से पैदल आवाजाही करनी पड़ रही है और जरूरी सामान लेने के लिए भी कई किलोमीटर चलना पड़ रहा है।

नाले में पानी के तेज बहाव के कम होने का इंतजार करती महिलाएं

(नाले में पानी के तेज बहाव के कम होने का इंतजार करती महिलाएं)

देहरादून में भी कई जगह पर हुआ जलभराव

राजधानी के कई क्षेत्रों में भी भारी बारिश से लोगों की दिक्कत बढ़ गई है। सरकार के सारे इंतजाम धरे के धरे रह गए। कई कॉलोनी में सड़के पानी से लबालब है। लोगों के घर और दुकानों में पानी घुस गया है। शिमला बायपास, लालपुर,जीएमएस रोड, प्रिंस चौक, दर्शनलाल चौक बंजारा वाला जैसे कई क्षेत्र हैं जहां पर भारी बारिश से सड़के पानी में डूब गई। नदी नाले भी उफान पर है। सीवर लाइन डालने के लिए को दी गई सड़क धसने लगी हैं।

कुमाऊं मंडल में बारिश का रेड अलर्ट जारी

उधर मौसम विभाग में कुमाऊं रीजन में 5 जुलाई तक बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। जबकि गढ़वाल क्षेत्र में येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक कुमाऊँ रीजन के पिथौरागढ़, बागेश्वर, चंपावत और अल्मोड़ा जिले में भारी से बहुत भारी बारिश होगी। जबकि गढ़वाल क्षेत्र के देहरादून, चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, टिहरी और हरिद्वार में भी भारी बारिश की आशंका जताई गई है।

Share this story