कूनो नेशनल पार्क के बड़े बाड़े में छोड़े गए नामीबिया से लाए गए दो चीते, पीएम नरेंद्र मोदी ने शेयर किया वीडियो

कूनो नेशनल पार्क के बड़े बाड़े में छोड़े गए नामीबिया से लाए गए दो चीते, पीएम नरेंद्र मोदी ने शेयर किया वीडियो

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

भोपाल। मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में नामीबिया से लाए गए चीतों ने दौड़ लगाना शुरू कर दिया गया है। आठ चीतों को यहां रखा गया है। चीतों को पहले अनिवार्य क्वारंटाइन के लिए छोटे बाड़े में रखा गया।

इनमें से दो चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ा गया है। यहां वे नेशनल पार्क की पारिस्थितिकी के साथ तालमेल बिठा पाएंगे। इसके बाद उन्हें खुले जंगल में छोड़ा जाएगा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो चीतों को बड़े बाड़े में छोड़े जाने का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है। इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट किया, "अच्छी खबर। अनिवार्य क्वारंटाइन के बाद 2 चीतों को बड़े बाड़े में छोड़ दिया गया है।

अन्य चीतों को जल्द ही बड़े बाड़े में छोड़ा जाएगा। मुझे यह जानकर खुशी हुई कि सभी चीते स्वस्थ और सक्रिय हैं। वे स्थानीय पारिस्थितिकी के साथ अच्छी तरह से तालमेल बिठा रहे हैं।"


70 साल बाद चीतों की हुई है वापसी

बता दें कि भारत में 70 साल बाद चीतों की वापसी हुई है। 1952 में इन्हें भारत से विलुप्त घोषित कर दिया गया था। प्रोजेक्ट चीता के तहत 17 सितंबर 2022 को नामीबिया से आठ चीतों को मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में लाया गया था। पीएम मोदी ने चीतों को कूनो नेशनल पार्क में छोड़ा था। 

क्या है प्रोजेक्ट चीता?

प्रोजेक्ट चीता भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है। इस परियोजना का उद्देश्य विलुप्त हो चुके इस जीव को दोबारा वनों में पनपने व शीर्ष शिकारी के रूप में अपनी जरूरी भूमिका को दोबारा बनाने का मौका देना है।

इस प्रकार सरकार इस जीव की प्राकृतिक रूप से संख्या बढ़ाने का प्रयास कर रही है और इसके वैश्विक सरंक्षण के रूप में अपना योगदान दे रही है।

Share this story