चक्रवाती तूफान असानी का खतरा टला, लेकिन मौसम में आए बदलाव से कई राज्यों में बारिश का अलर्ट

dfdffd

Newspoint24/ newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ

नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान असानी (cyclonic storm Asani) का बड़ा खतरा टल गया है। सी मौसम विज्ञान केंद्र, हैदराबाद की वैज्ञानिक डॉ. ए श्रावणी के अनुसार, असानी कमजोर हो चुका है। हालांकि तेलंगाना में अगले 4 दिनों तक बारिश होने की संभावना है। तूफान के असर से आंध्र प्रदेश के साथ बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ में भी बारिश की संभावना है।

मौसम में परिवर्तन की ये हैं 5 बड़ी वजहें

पहली वजह-भारतीय मौसम विभाग(ndia Meteorological Department) के अनुसार, डीप डिप्रेशन जो एक चक्रवात आसनी का अवशेष है, डिप्रेशन में बदल गया है। अब यह धीरे-धीरे एक गहरे कम दबाव वाले क्षेत्र में बदल जाएगा।

दूसरी वजह-जम्मू कश्मीर और आसपास के क्षेत्र पर पश्चिमी विक्षोभ(western disturbance)बना हुआ है।

तीसरी वजह-एक प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान के ऊपर बना हुआ है।

चौथी वजह-स्काईवेट वेदर(skymetweather) के अनुसार,एक ट्रफ रेखा उत्तर पश्चिमी राजस्थान से दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश तक फैली हुई है।

पांचवीं वजह-एक और निम्न दबाव की रेखा विदर्भ से लेकर डिप्रेशन से जुड़े साइक्लोनिक सर्कुलेशन तक फैली हुई है।

इन राज्यों में हुई बारिश
अगर पिछले 24 घंटों की बात करें, तो इस दौरान तटीय आंध्र प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश हुई। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, असम के त्रिपुरा भागों और सिक्किम में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश होती रही।

शेष पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, केरल, कर्नाटक, बिहार के रायलसीमा भागों, हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हुई। जबकि ओडिशा, दक्षिण छत्तीसगढ़, पूर्वी उत्तर प्रदेश, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, दक्षिण कोंकण और गोवा, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु और मराठवाड़ा में हल्की बारिश तथा जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड के एक या दो हिस्सों में हल्की छिटपुट बारिश दर्ज की गई।

इन राज्यों में लू का असर
स्काईवेट वेदर(skymetweather) के अनुसार, राजस्थान के अधिकांश हिस्सों, पश्चिम मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, गुजरात, विदर्भ, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र और हरियाणा, दिल्ली और पूर्वी मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बन सकती है।

अगर पिछले दिन की बात करें, तो पश्चिमी मध्य प्रदेश के कुछ स्थानों पर और पूर्वी राजस्थान और गुजरात के एक या दो हिस्सों में और राजस्थान के अधिकांश हिस्सों में गर्मी की लहर महसूस हुई।

इन राज्यों में बारिश का पूर्वानुमान
अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

पश्चिम बंगाल, पूर्वी बिहार और दक्षिण कर्नाटक में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की हो सकती है।

ओडिशा, पश्चिमी हिमालय, झारखंड, कोंकण और गोवा, तेलंगाना और लक्षद्वीप में हल्की बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर मध्यम बारिश के आसार हैं। जबकि मराठवाड़ा, दक्षिण छत्तीसगढ़ और विदर्भ के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश संभव है।

Share this story