कर्नाटक में फिर टेंशन: BJP वर्कर प्रवीण नेतारू के बाद मंगलुरु में मुस्लिम युवक की हत्या, धारा 144 लागू

कर्नाटक में फिर टेंशन: BJP वर्कर प्रवीण नेतारू के बाद मंगलुरु में मुस्लिम युवक की हत्या, धारा 144 लागू

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

बेंगलुरु। कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में गुरुवार को एक 23 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति की हत्या कर दी गई। पुलिस ने मृतक की पहचान फाजिल के रूप में की है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, मंगलुरु के सुरथकल इलाके में अज्ञात लोगों ने उसकी चाकू मारकर हत्या कर दी थी।

मंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर एन शशि कुमार ने कहा कि शुरुआती जांच में सामने आया है कि 4 से 5 लोग आए और फाजिल के साथ मारपीट की बता दें कि सूरथकल पुलिस थाने का एरिया बहुत संवेदनशील माना जाता है। 

पुलिस कमिश्नर ने कहा-फाजिल की हत्या के पीछे का मकसद अभी सामने नहीं आया है। यह कहना जल्दबाजी होगी कि इसका किसी अन्य घटना(प्रवीण नेतारू हत्याकांड) से कोई संबंध है। अगर कोई संबंध है, तो हम निष्पक्ष रूप से जांच करेंगे। यह घटना उसी समय हुई जब मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भाजपा युवा विंग के नेता प्रवीण नेतारू के घर के दौरे पर थे।

कपड़े की दुकान पर खड़ा था, तभी हुआ हमला

पुलिस कमिश्नर एन शशि कुमार ने सूरतकल में घटनास्थल का दौरा किया, जहां फाजिल के साथ मारपीट और हत्या हुई थी। मीडियाकर्मियों से बातचीत में कुमार ने कहा, “28 जुलाई को, सूरथकल थाना सीमा में, फाजिल (23) एक कपड़ा दुकान के सामने खड़ा था।

रात करीब आठ बजे चार से पांच लोगों ने फाजिल पर हमला कर दिया। हमले के समय फाजिल के साथ मौजूद चश्मदीदों ने उसे अस्पताल पहुंचाया और सूरतकल पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया। सूरथकल क्षेत्र एक बहुत ही संवेदनशील क्षेत्र है।

किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए सूरथकल, पनम्बूर, मुल्की और बाजपे पुलिस थाना क्षेत्रों में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है। धारा 144 28 जुलाई रात 10 बजे से 30 जुलाई सुबह 6 बजे तक लागू है। इस दौरान शराब की दुकानें बंद रहेंगी।"

प्रवीण नेतारू की हत्या से भी राज्य में तनाव है

कर्नाटक में बीजेपी यूथ विंग के कार्यकर्ता प्रवीण नेतारू की मंगलवार रात(26 जुलाई) को इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा बर्बरता हत्या से तनाव की स्थित है। इस बीच केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने एक tweet करके केरल को कट्टरपंथी इस्लामी आतंक की सुरक्षित पनाहगार बनने की बात कही है।

वहीं, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि यदि स्थिति की मांग रही तो यूपी के योगी मॉडल को कर्नाटक में भी लागू किया जाएगा। सरकार देश विरोधी और सांप्रदायिक तत्वों से निपटने के लिए दक्षिणी राज्य में भी योगी मॉडल लागू कर सकती है।

यानी यहां भी सरकारी संपत्ति के नुकसान की भरपाई के लिए बुलडोजर चल सकता है। वहीं, मुख्यमंत्री ने ने ऐलान किया है कि सरकार एक स्पेशल कमांडो फोर्स का गठन करने जा रही है। इसे इंटेलिजेंस,गोला-बारूद, रेसोर्सेज की स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी।

यह राज्य में शांति भंग करने और सांप्रदायिक तनाव को भड़काने की साजिश रचने वाले राष्ट्र-विरोधी और आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। 

यह भी पढ़ें : असम में अलकायदा से जुड़े अंसारुल इस्लाम के 12 जिहादी अरेस्ट, मदरसे से ऑपरेट हो रही थीं आतंकी साजिशें

Share this story