भाभी अपने देवर के साथ बनाती थी अवैध संबंध, इस कदर दीवानी हुई की पत्नी को मरवा डाला...खुद बयां की डर्टी कहानी

भाभी अपने देवर के साथ बनाती थी अवैध संबंध, इस कदर दीवानी हुई की पत्नी को मरवा डाला...खुद बयां की डर्टी कहानी

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

किशनगंज। कहते हैं देवर-भाभी के बीच का रिश्ता मां-बेटे की तरह पवित्र होता है। लेकिन बिहार के किशनगंज से इस रिश्ते को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है। जहां भाभी को देवर से प्यार हो गया, दोनों के बीच अवैध संबंध भी बन गए।

इसके बाद महिला प्यार में इस कदर पागल हो गई कि उसने देवर के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी। दोनों ने इस घटना को अंजाम देने के लिए एक शूटर हायर किया। इसके बदले महिला ने शूटर को एक लाख रुपए देने का वादा किया। इतना ही नहीं एडवांस के तौर पर 20 हजार रुपए तक दिए। मंगलवार को जिले के एसपी डॉ इनामुल हक ने पूरे मामले का खुलासा किया।

हत्या करवाकर पत्नी ने पुलिस को सुनाई झूठी कहानी

दरअसल, 26 जुलाई को पप्पू गुप्ता नाम के युवक को ड्यूटी से लौटते वक्त अज्ञात लोगों ने गोली मार दी थी। स्थानीय लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

वहीं मृतक की पत्नी ने प्रीती गुप्ता ने झूठी कहानी गढ़ते हुए पति की हत्या का मामला दर्ज भी कराया था। एसपी किशनगंज ने एसडीपीओ किशनगंज के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया गया। पुलिस को मृतक की पत्नी और उसके भाई पर शक हुआ और उन पर नजर रखना शुरू कर दिया। 

देवर-भाभी एक दूसरे के बिना जीना नहीं चाहते थे

पुलिस ने इस हत्याकांड की साजिश रचने वाले देवर-भाभी प्रीति गुप्ता और राजू गु्प्ता से पूछताछ की तो पता चला कि मृतक की पत्नी का अपने देवर के साथ लंबे समय से प्रेम संबंध था। दोनों के प्यार के बीच पप्पू बाधा बन रहा था।

इसलिए दोनों ने मिलकर उसकी हत्या करवा दी। वहीं पुलिस ने इस वारदात को अंजाम देने वाले शूटर सूरज कुमार पासवान को भी गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। इसके अलावा पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन, पिस्तौल, चाकू और अन्य सामान भी बरामद किया है।

bhabhi physuical relation  devar and love story  after wife killed her husband in kishanganj kpr

ऐसे शुरू हुई देवर-भाभी की लव स्टोरी

बता दें कि आरोपी पत्नी प्रीति कुमारी किशनगंज के एमजीएम अस्पताल में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी। जिसे लेने और छोड़ने के लिए देवर जाता था। इसी बीच दोनों में प्यार हो गया और शादी करना चाहते थे।

इसके लिए वह एक बार पहले भागकर शादी करने का प्रयास कर चुके थे। लेकिन सफल नहीं हो पाए। फिर दोनों ने पप्पू को बीच रास्ते में हटाने की साजिश रची। इसके लिए एक सुपरी किलर की मदद ली गई। किलर से इस मर्डर का सौता एक लाख रुपए में तय किया या। वहीं एडवांस में 20 हजार रुपए भी दिए। बाकी रकम काम होने के बाद देने पर बात हुई थी।

गोली लगने के बाद पप्पू ने पत्नी को किया था फोन

महिला इतनी शातिर थी कि वह घटना वाले दिन बदमाशों को पप्पू की एक-एक लोकेशन देती रही। फिर सुनसान जगह पर पप्पू के आने का इंतेजर कर रहे हत्यारों ने उसे गोली मरा दी।

इसके उसे मरा हुआ समझ बदमाश भाग गए। गोली लगने के बाद पप्पू ने जान बचाने के लिए अपनी पत्नी को ही फोन किया था। लेकिन उस क्या पता था जिससे वह मदद मांग रहा है वो ही उसकी हत्या करवाना चाहती है।

पति का फोन आने के बाद पत्नी ने दोबारा बदमाशों को फ़ोन किया और पति के जिंदा होने की बात बताई। फिर बदमाश दोबारा मौके पर गए और पप्पू पर चाकू से हमला कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई।

Share this story