सड़क हादसे में सरबजीत की पत्नी की मौत, पाकिस्तानी जेल में बंद पति का करती रही इंतजार

सड़क हादसे में सरबजीत की पत्नी की मौत, पाकिस्तानी जेल में बंद पति का करती रही इंतजार

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

अमृतसर। करीब 23 साल तक पाकिस्तानी जेल में बंद रहने वाले भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह की पत्नी सुखप्रीत कौर की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक कौर की मौत सोमवार देर रात पंजाब के अमृतसर में हुआ।

पुलिस ने कहा कि सिंह की सुखप्रीत कौर बाइक में पीछे बैठी थी लेकिन फतेहपुर के पास वह चलती गाड़ी से गिर गई। जिसमें उन्हें गंभीर चोट आई और इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया जहां उनकी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार, सुखप्रीत कौर का अंतिम संस्कार मंगलवार को तरनतारन के पैतृक गांव भिखीविंड में किया जाएगा। उनकी दो बेटियां पूनम और स्वप्नदीप कौर हैं। बता दें कि सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर का भी कुछ महीनों पहले निधन हो गया था।

उनके सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था लेकिन मौत हो गई। दलबीर कौर ने पाकिस्तान में सरबजीत सिंह की कैद के खिलाफ आवाज उठाई थी।

2013 में हुई थी सबरजीत की मौत

बता दें कि अप्रैल 2013 में लाहौर जेल के कैदियों द्वारा किए गए हमले में 49 साल की आयु में सरबजीत की मौत हो गई थी। उन्हें पाकिस्तानी अदालत द्वारा आतंकवाद और जासूसी का दोषी ठहराया गया था और 1991 में मौत की सजा सुनाई गई थी। मौत के बाद सरबजीत का पार्थिव शरीर लाहौर से अमृतसर लाया गया जहां उनका अंतिम संस्कार किया गया।

गलती से पाकिस्तान पहुंचा था सबरजीत

बता दें कि पाकिस्तान में हुए सिलसिलेवार बम हमलों की साजिश रचने के लिए सरबजीत को दोषी ठहराया गया था। सरबजीत को बचाने के लिए भारतीय अधिकारियों के द्वारा तर्क दिया गया था कि सरबजीत केवल एक किसान था और पाकिस्तान में हुए बम धमाकों के तीन महीने बाद अपने खेत में जा रहा था और गलती से भटक कर पाकिस्तान पहुंच गया था। बता दें कि सरबजीत सिंह को बचाने के लिए देशभर में कई अभियान भी चलाए गए थे लेकिन सरबजीत पाकिस्तान से जिंदा वापस नहीं आ पाया था।

Share this story