राजद विधायक ने महाभारत के 'शिखंडी' से की सीएम नीतीश की तुलना, कहा- उनका अपना कोई आधार नहीं

dv

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ  

पटना। राजद विधायक और पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर एक बड़ा और विवादित बयान दिया है। सुधाकर सिंह ने सीएम नीतीश कुमार की तुलना महाभारत के पात्र शिखंडी से कर दी है। सुधाकर सिंह ने कहा है कि उन्हें तत्काल सीएम की कुर्सी छोड़ देनी चाहिए।

लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह के बेटे और सूबे के पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह का बयान चर्चा में है। सुधाकर सिंह ने सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ एक बयान दिया है जिस पर सियासी घमासान छिड़ गया है।

मीडिया से बात करते हुए सुधाकर सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार महाभारत के एक पात्र शिखंडी की तरह हैं। उनका अपना कोई आधार नहीं है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सीएम की गद्दी उन्हें तत्काल छोड़ तेजस्वी यादव को सौंप देनी चाहिए।

नीतीश कुमार की अपनी हैसियत नहीं- सुधाकर सिंह

सुधाकर सिंह सिंह ने कहा कि एक बार जब वह पद छोड़ देंगे तो लोग उन्हें याद नहीं रखेंगे। नीतीश ने राज्य के लिए कुछ भी बड़ा नहीं किया है। पूर्व मुख्यमंत्रियों - स्वर्गीय कृष्ण सिन्हा और कर्पूरी ठाकुर जैसे लोग हैं - जिन्हें बिहार की जनता उनके योगदान के लिए हमेशा याद रखेगी।

हमारे नेता और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद जी का भी यही हाल है, जिन्होंने प्रदेश के लिए बहुत कुछ किया है। लेकिन नीतीश कुमार का नाम इतिहास में नहीं होगा।

बीते अक्टूबर 2022 में मंत्री पद से दिया था इस्तीफा

गौरतलब है कि सुधाकर सिंह ने बीते अक्टूबर माह में राज्य के कृषि मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था  जब उन्होंने विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ बार-बार नाराजगी जताते हुए नीतीश कुमार को खूब परेशान किया था।

सुधाकर सिंह बीते काफी दिनों से सीएम नीतीश कुमार पर हमलावर हैं। वह लगातार विवादित बयानबाजी करके सीएम पर निशाना साधते रहते हैं।

आरजेडी ने सुधाकर सिंह के बयान से किया किनारा

सुधाकर सिंह की टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि इस तरह की टिप्पणियों की कड़ी निंदा की जानी चाहिए। इससे राज्य में 'महागठबंधन' सरकार के सभी गठबंधन सहयोगियों की एकता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

उन्होंने जानबूझकर सीएम के खिलाफ ऐसी टिप्पणी की है। भाजपा के साथ उनका पुराना जुड़ाव जगजाहिर है। राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष (जद-यू) उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आरजेडी विधायक का बयान अस्वीकार्य है। यह मर्यादा भंग करने का प्रयास है।

Share this story