धमतरी-गंगरेल बांध तक जाने आटो सेवा नहीं, पर्यटक होते हैं निराश

 धमतरी-गंगरेल बांध तक जाने आटो सेवा नहीं, पर्यटक होते हैं निराश

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ 

धमतरी। शहर से पर्यटन क्षेत्र गंगरेल बांध तक जाने निरंतर आटो सेवा नहीं है। जरूरतमंद लोग प्राईवेट आटो कर महंगे खर्च पर गंगरेल बांध पहुंचते हैं, जो सैलानियों के लिए मुसीबत बनी हुई है। वहीं हर समय आटो की सुविधा नहीं मिल पाता। जबकि पहले धमतरी से गंगरेल तक दो सिटी बस सेवा दे रहे थे, ऐसे में कम खर्च पर सैलानियों को गंगरेल बांध तक आने व जाने में काफी राहत मिलती थी, लेकिन बस सेवा बंद होने से दिक्कतें बढ़ गई है।

कोरोना संक्रमण काल शुरू होने से पहले गंगरेल से रूद्री और वापस धमतरी बस स्टैंड तक दो सिटी बसें सेवा दे रही थी, इससे सैलानियों व लोगों को काफी राहत थी। 20 से 25 रुपये में सैलानी गंगरेल बांध तक घूमकर वापस आ जाते थे, लेकिन सिटी बस सेवा बंद होने से लोगों की दिक्कतें बढ़ गई है।

धमतरी बस स्टैंड व अंबेडकर चौक से गंगरेल बांध तक निरंतर आटो सेवा की सुविधा नहीं है। गंगरेल बांध तक जाने के लिए लोगाें को प्राईवेट आटो, ई-रिक्शा करना पड़ता है, जो काफी महंगा पड़ता है। वहीं गंगरेल बांध से वापसी के लिए निरंतर आटो सुविधा नहीं है। ऐसे में आने व जाने के लिए प्राईवेट करके ही जाना पड़ता है।

सिटी बस सेवा शुरू करने की मांग

क्षेत्र के जागरूक व्यक्ति नरेश साहू, भूपेन्द्र कुमार साहू, चमन लाल, मोहन लाल, आशीष कुमार का कहना है कि नगर निगम प्रशासन पहले की तरह शहर व आसपास गांवों के लिए सिटी बस की सेवा पुन: शुरू करें, क्योंकि इस बस के चलने से लोगों को शहर व आसपास गांवों तक आने-जाने में काफी आसानी हो रही थी।

सिटी बस की सेवा बंद होने से हर वर्ग की दिक्कतें बढ़ गई है। लोगों ने जिला प्रशासन व नगर निगम प्रशासन से जल्द ही सिटी बस सेवा शुरू करने पर निर्णय लेने की मांग की है, ताकि लोगों को धमतरी शहर, गंगरेल बांध व आसपास क्षेत्रों में आने-जाने के लिए आसानी हो सके।

Share this story