Monsoon Update: कई राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, जानिए आपके राज्य में क्या है अलर्ट

कई राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, जानिए आपके राज्य में क्या है अलर्ट

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ   

नई दिल्ली। कुछ को छोड़कर देश के अधिकांश राज्यों में दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की एक्टिविटी बनी हुई है। राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग(IMD) ने कहा है कि आजकल में केरल, कर्नाटक, लक्षद्वीप के कुछ हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, महाराष्ट्र, गुजरात क्षेत्र, दक्षिण राजस्थान, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों और मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश के आसार

झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश और तमिलनाडु में हल्की बारिश होने की संभावना है। जबकि आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, पूर्वोत्तर भारत के शेष हिस्सों, दक्षिण छत्तीसगढ़, पश्चिम मध्य प्रदेश, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड, पंजाब और हरियाणा में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।

दिल्ली में हल्की बारिश की संभावना

दिल्ली के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को भारी बारिश हुई, जिससे शहर में उमस से राहत मिली। हालांकि कुछ इलाकों में पानी भरने से ट्रैफिक बाधित हुआ।साकेत, मालवीय नगर, बुराड़ी, जीटीबी नगर, ईस्ट ऑफ कैलाश, लाजपत नगर, कैलाश हिल्स और मध्य दिल्ली सहित अन्य क्षेत्रों में बारिश दर्ज की गई। दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने कहा कि उसे अमर कॉलोनी, आईटीओ, द्वारका, मंगोलपुरी और पल्ला गांव में जलभराव की शिकायतें मिली हैं। नगर निकाय को ईस्ट ऑफ कैलाश, वसंत विहार, उत्तम नगर, जहांगीरपुरी और रघुबीर नगर में भी पेड़ उखड़ने की पांच शिकायतें मिलीं। शहर के कुछ हिस्सों में जलभराव के कारण यातायात प्रभावित हुआ। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, शनिवार को आसमान में बादल छाए रहने के साथ हल्की बारिश की संभावना है। न्यूनतम और अधिकतम तापमान क्रमश: 26 डिग्री सेल्सियस और 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। 

बारिश थमने से केरल को राहत

कई दिनों तक लगातार बारिश के बाद केरल को शुक्रवार को कुछ राहत मिली। हालांकि मध्य और उत्तरी केरल के जिलों में विभिन्न बांधों का जलस्तर बढ़ने से अधिकारियों को अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए कुछ शटर खोलने पड़े।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शनिवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जिसमें केरल के इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड जिलों के लिए अलग-अलग भारी बारिश का संकेत दिया गया है।  इस बीच, 31 जुलाई के बाद से राज्य में मरने वालों की संख्या 20 हो गई है, जिससे एक और व्यक्ति की मौत हो गई। बता दें कि रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक की भारी से अत्यधिक भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट का मतलब 6 सेमी से 20 सेमी की बहुत भारी बारिश है। येलो अलर्ट का मतलब है 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश। 

राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश का कहर जारी
राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश जारी है। मौसम विभाग के अनुसार, प्रतापगढ़ में छोटी सदरी में 7 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि बामनवास (सवाई माधोपुर), विराट नगर (जयपुर) और असपुर (डूंगरपुर) में 6-6 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। विभाग ने आजकल में राज्य के कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई है। 

इसलिए बदल रहा है मौसम
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार,मानसून की ट्रफ समुद्र तल पर जैसलमेर, उदयपुर, भोपाल, मंडला, रायपुर, सुबरनापुर, भुवनेश्वर और फिर दक्षिण पूर्व की ओर पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी से होकर गुजर रही है। विंड शीयर जोन दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के ऊपर 11 डिग्री उत्तर में समुद्र तल से 5.8 और 7.6 किमी के बीच देखा जा सकता है और यह ऊंचाई के साथ दक्षिण की ओर झुका हुआ है।

पश्चिम मध्य और उससे सटे उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तट के पास बना हुआ है।

पश्चिमी विक्षोभ(western disturbance) को मध्य पाकिस्तान और आसपास के क्षेत्रों पर एक चक्रवाती परिसंचरण(cyclonic circulation) के रूप में देखा जा रहा है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पूर्वोत्तर राजस्थान और आसपास के इलाकों में बना हुआ है। 7 अगस्त को उत्तर पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी पर एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने की संभावना है।

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश

अगर पिछले दिन की बात करें, तो तमिलनाडु, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, तेलंगाना, कोंकण और गोवा, गंगीय पश्चिम बंगाल, असम, राजस्थान के शेष हिस्सों, दिल्ली एनसीआर और हरियाणा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई।

पंजाब छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु में  भी हल्की बारिश हुई। जबकि केरल, तटीय कर्नाटक, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, गुजरात क्षेत्र, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, विदर्भ के कुछ हिस्सों, मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्व राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, और मेघालय के ऊपर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश रिकॉर्ड की गई।

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार को लेकर एकनाथ शिंदे का बड़ा बयान, जानें कब होगा मंत्रिमंडल का गठन

Share this story