पति दूसरे मर्द के साथ सोने को करता है मजबूर, पत्नी बोली- तीन बेटियां होना अपराध है क्या

पति दूसरे मर्द के साथ सोने को करता है मजबूर, पत्नी बोली- तीन बेटियां होना अपराध है क्या

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

भागलपुर। एक तरफ सरकार बेटी बचाओ बेटी बढाओ योजना चलाकर लोगों को इस बात के लिए जागरूक कर रही है कि बेटी होना किसी तरह का अभिशाप नहीं है।

वहीं दूसरी ओर ऐसी भी घटनाएं सामने आ रही हैं जहां बेटी होने पर उसके मां को क्रूरता की हद तक परेशान किया जा रहा है। कुछ ऐसा ही मामला बिहार के भागलपुर जिले से सामने आया है। यहां एक महिला ने अपने पति और ससुरालियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। 

भागलपुर जिले के बाथ थाना क्षेत्र के बाथ गांव निवासी 25 वर्षीय एक महिला ने अपने ससुराल वालों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला के तीन बेटियाँ हैं और यही उसके लिए अब अभिशाप बन गया है।

उसका पति, सास व चचेरे देवर ने उस पर इसलिए जुल्म ढाना शुरू कर दिया है क्योंकि वह तीन बेटियों की मां है। इंसानियत की हत्या तो तब हो गई जब उसके पति ने बेटे की चाहत में उसपर दूसरे मर्द के साथ संबंध बनाने के लिए दबाव बनाया। महिला की तहरीर पर सभी के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई  है। 

रोज मारपीट करता है पति-पीड़िता 

पीड़ित महिला ने बाथ थाने में शनिवार को शिकायती पत्र देकर बताया कि कि शुक्रवार सुबह पति सुनील कुमार यादव, सास मीरा देवी, चचेरा देवर राहुल यादव ने मिलकर मेरे साथ खूब मारपीट की।

लाठी-डंटे और लोहे की राड से पीटकर अधमरा कर दिया। महिला ने आरोप लगाया कि सास व पति हमको तीन बेटी होने की वजह से दूसरे मर्द के साथ सोने के लिए मजबूर कर रहे हैं। पति अपने भाई के साथ संबंध बनाने के लिए कहते हैं। मना करने पर रोज मारपीट करता है।

हैवानियत की हो गई इंतिहा 

महिला के मुताबिक ससुराल वाले उसे गालियां देते हैं। कमरे में कई घंटे तक बंद कर देते हैं। खाना भी नहीं देते। उसकी बेटियों को भी पीटते हैं। महिला ने किसी तरह अपने भाई को इसकी सूचना दी।

भाई मुझे इलाज कराने के लिए आया तो ससुराल वालों ने भाई के साथ भी मारपीट कर भगा दिया। किसी तरह वह जान बचाकर भाग कर थाने आई है। थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि महिला की तहरीर पर केस दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। 

Share this story