तिहाड़ में बंद AAP मिनिस्टर सत्येंद्र जैन के VIP ट्रीटमेंट वाले CCTV फुटेज लीक मामले में आज कोर्ट करेगा सुनवाई

तिहाड़ में बंद AAP मिनिस्टर सत्येंद्र जैन के VIP ट्रीटमेंट वाले CCTV फुटेज लीक मामले में आज कोर्ट करेगा सुनवाई

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

नई दिल्ली। मनी लॉन्ड्रिंग केस में तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली सरकार के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन(health minister satyendra jain) के मसाज के बाद आहार(diet) के वीडियो वायरल होने से एक बड़ा विवाद छिड़ा हुआ है।

सत्येंद्र जैन ने वकील के माध्यम से कोर्ट में गुहार लगाई है कि जेल के अंदर के लीक हुए वीडियो मीडिया में दिखाने पर रोक लगाई जाए। इस मामले पर आज(24 नवंबर) को सुनवाई होगी। पढ़िए कैसे छिड़ा हुआ है विवाद...

मसाज कराते CCTV फुटेज वायरल होने के बाद कोर्ट में लगाई थी याचिका

सत्येंद्र जैन के जेल में मालिश कराते वीडियो वायरल होने के बाद विवाद छिड़ गया था। इन वीडियो को बाहर आने से रोकने के लिए सत्येंद्र जैन ने वकील के जरिये कोर्ट में गुहार लगाई है।

अभी यह मामला शांत भी नहीं पड़ा कि उनके जेल में फल-मेवे खाने के वीडियो वायरल हो गए। मसाज वाले वीडियो को लेकर भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने आरोप लगाया था कि जैन जिस कैदी से मसाज करा रहे थे, वो नाबालिग से रेप का आरोपी है।

सूत्रों के अनुसार, उसका नाम रिंकू है। इस पर POCSO की धारा 6 और IPC की धारा 376, 506 और 509 के तहत आरोप हैं। पहले से ही ये आरोप लगते रहे हैं कि तिहाड़ जेल में सत्येंद्र जैन को VIP ट्रीटमेंट मिल रहा है।

ED ने भी आरोप लगाया था कि तिहाड़ जेल में सत्येंद्र जैन को VVIP ट्रीटमेंट मिल रहा है। वायरल वीडियो 13 से 21 सितंबर के बीच के बताए गए हैं। सत्येंद्र जैन तिहाड़ जेल की सेल-3 ब्लॉक-A में बंद हैं। 

स्मृति ईरानी ने केजरीवाल की आलोचना की

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उनके मंत्री सत्येंद्र जैन तिहाड़ जेल में एक 'बलात्कारी' की सेवा ले रहे हैं।

हाल ही में सामने आए वीडियो में जैन को कथित तौर पर तिहाड़ जेल के अंदर जेल की कोठरी में मालिश करवाते देखा जा सकता है। सूत्रों द्वारा यह दावा किया गया था कि जेल की कोठरी में जैन की मालिश करते हुए देखे गए व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप लगाया गया था।

ईरानी ने कहा कि दिल्ली के लोग महिलाओं के जीवन में सुधार और सुविधा की आशा के साथ प्रतीक्षा कर रहे हैं, लेकिन केजरीवाल के नेता और मंत्री जेल में एक बलात्कारी की सेवाएं लेकर महिला उत्थान को लेकर सबसे बड़ा पाप कर रहे हैं।

राजेंद्र नगर में भाजपा के एमसीडी चुनाव उम्मीदवार के लिए प्रचार करते हुए ईरानी ने आरोप लगाया, "हालांकि केजरीवाल ने बिजली आपूर्ति के लिए गरीब लोगों के सपने को पूरी तरह से साकार नहीं किया है, लेकिन जेल में उनके भ्रष्ट मंत्री आराम से जेल में टीवी देखते हैं।"

दिल्ली की अदालत ने नियमानुसार खाना मुहैया कराने का निर्देश दिया

दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को तिहाड़ जेल के अधिकारियों को जेल में बंद AAP के मंत्री सत्येंद्र कुमार जैन को धार्मिक उपवास के दौरान संबंधित नियमों के अनुसार भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

स्पेशल जज विकास ढुल की कोर्ट जैन द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि जेल प्रशासन ने उन्हें उनके धार्मिक उपवास के दौरान कानून के अनुसार भोजन देना बंद कर दिया था।

बता दें कि तिहाड़ जेल की कोठरी में कथित तौर पर कच्ची सब्जियां और फल खाने के वीडियो सामने आने के बाद बुधवार को एक नया विवाद खड़ा हो गया। केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने आरोप लगाया कि वह छुट्टी मनाने के लिए रिसॉर्ट जैसी सुविधाओं का आनंद ले रहे हैं।

यह वीडियो तब सामने आया जब उसने अदालत का रुख किया और आरोप लगाया कि उसे उसकी धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कच्चा भोजन नहीं दिया जा रहा है। हालांकि, कथित वीडियो 13 सितंबर और 1 अक्टूबर के हैं।

जैन के आवेदन में तिहाड़ के अधिकारियों को उनके धार्मिक विश्वासों के अनुसार फल, सूखे मेवे और खजूर जैसे खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने का निर्देश देने की मांग की गई थी, क्योंकि वह उपवास कर रहे थे।

जज ने जेल प्रशासन को गुरुवार तक जवाब दाखिल करने का भी निर्देश दिया था कि बताया जाए कि पिछले छह महीनों में जैन को क्या खाना दिया गया? क्या वह पिछले 5-6 महीनों के दौरान धार्मिक उपवास पर थे और क्या आहार दिया जा रहा था, जो 10-12 दिनों से बंद है? जज ने जेल प्रशासन को सोमवार(28 नवंबर) तक जैन की मेडिकल रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया, जिसमें उनका वर्तमान वजन और एमआरआई स्कैन (यदि कोई हो) शामिल है।

सुनवाई के दौरान जेल प्रशासन ने संबंधित दस्तावेजों के साथ एक विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए तीन दिन का समय मांगा है। जैन की ओर से पेश सीनियर एडवोकेट राहुल मेहरा ने अदालत को बताया कि नेता को जो फल, सब्जियां और मेवा मिल रहे थे, उन्हें जेल अधिकारियों ने बंद कर दिया है। वकील ने कहा कि जैन अनशन के दौरान विशेष आहार के हकदार हैं।

आवेदन में कहा गया है कि दिल्ली जेल नियम स्थानीय या धार्मिक रीति-रिवाजों जैसे कि नवरात्र और रमजान के दौरान दिए जाने वाले आहार का प्रावधान करते हैं।

ईडी ने इससे पहले जमानत की सुनवाई के दौरान जैन पर जेल के अंदर विशेष इलाज कराने का आरोप लगाया था। इसके बाद जेल में जैन को स्पेशल ट्रीटमेंट देने में कथित संलिप्तता के लिए तिहाड़ जेल अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया था।

कथित तौर पर जैन को मालिश करवाते हुए और अपने जेल कक्ष में आगंतुकों से मिलते हुए वीडियो पिछले सप्ताह सामने आए थे, जिसने एक बड़े विवाद को जन्म दिया।

जैन को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत 2017 में CBI द्वारा दर्ज FIR के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था।

अदालत ने 17 नवंबर को मामले में जैन और दो अन्य को जमानत देने से इनकार कर दिया था। उस पर कथित रूप से उससे जुड़ी चार कंपनियों के माध्यम से धन शोधन करने का आरोप है। 

Share this story