15 साल की लड़की ने बहन की गर्दन काट टुकड़े-टुकड़े कर दिए, पिता-चाची को भी मारा...बोली-किसी को नहीं छोड़ूगी

15 साल की लड़की ने बहन की गर्दन काट टुकड़े-टुकड़े कर दिए, पिता-चाची को भी मारा...बोली-किसी को नहीं छोड़ूगी

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

डूगंरपुर। देवी की छाया आने के नाम पर पंद्रह साल की लड़की ने खून की होली खेली। हाथ में नंगी तलवार लेकर पूरी रात लहराती रही, जिसने भी रोकने की कोशिश की उस पर तलवार चला दी।

बाद में अलग कमरे में सो रही अपनी नौ साल की बहन की गर्दन उड़ा दी। बहन के गर्दन पर सात बार तलवार मारी और उसके बाद जान ले ली। गर्दन कटकर धड़ से अलग हो गई।

अपने पिता और चाचा पर भी तलवार मार दी। यह पूरी घटना डूंगरपुर जिले के चितरी थाना इलाके की है। इस घटना के बाद से बवाल मचा हुआ है। 

हाथ में नंगी तलवार लेकर नाच रही थी पंद्रह साल की लड़की, बोल रही थी देवी आ गई है...

डूंगरपुर जिले के चितरी थाना इलाके में स्थ्ज्ञित झिंझवा गांव में दशा माता की प्रतिमा स्थापित कर वहां पर रोज पूजा की जा रही थी। हर शम वहां पर पूजा पाठ का लंबा दौर चल रहा था। रविवार को भी ऐसा ही जारी था।

गांव में जिस घर में पूजा की जा रही थी, उस घर में रहने वाले शंकर कुमार की पंद्रह साल की बेटी भी वहां पर मौजूद थी। वहां पर एक तलवार भी रखी हुई थी।

अचानक बेटी खड़ी हुई और झूमने लगी। चीखने चिल्लाने लगी। उसके बाद उसने हाथ में तलवार उठा ली। तलवार उठाकर नाचे कूदने लगी और चीखने लगी। वहां पर और लोग जमा हो गए।

तलवार घुमाते हुए बोली-आज सबको मार दूंगी, किसी को नहीं छोड़ूगी...

 रात करीब ग्यारह बारह बजे के करीब वह तलवार लेकर घर के बाहर तक जाने लगी और उसके बाद वापस आकर चीखने लगी। उसके बाद उसने एक कमरे में सो रही अपनी नौ साल की बहन को कमरो के बाहर खींच लिया।

उसके गले पर सात से दस बार तलवार मारी। पिता और चाचा ने रोकने की कोशिश की तो उन पर भी तलवार चला दी। चीखने लगी आज सबको मार दूंगी, किसी को नहीं छोड़ूगी। इस घटना के बार भगदड़ मच गई। देर रात ही पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुची और जांच पडताल शुरु कर दी है।

Share this story