T20 World Cup 2022 : टीम इंडिया ने जिम्बाब्वे को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई 

T20 World Cup 2022 : टीम इंडिया ने जिम्बाब्वे को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

मेलबोर्न। टीम इंडिया ने रविवार को जिम्बाब्वे को हराकर टी-20 वर्ल्ड कप 2022 के सेमीफाइनल में जगह बना ली। भारतीय टीम सुपर-12 ग्रुप-2 में टॉप पोजीशन पर रहते हुए अंतिम चार में पहुंची है। भारत ने इस मैच में 13.3 ओवर तक 101 रन बनाने में 4 विकेट गंवा दिए थे। यहां से कुल 5 फैक्टर ऐसे रहे, जिनके चलते भारतीय टीम ने मुकाबला आसानी से जीत लिया। चलिए सभी फैक्टर्स को एक-एक कर जानते हैं।

1. केएल राहुल की लगातार दूसरी फिफ्टी
भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। कप्तान रोहित शर्मा 13 गेंद पर 15 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद दूसरे ओपनर केएल राहुल ने बेहतरीन बल्लेबाजी की। उन्होंने 35 गेंदों पर 3 चौके और 3 छक्के की मदद से 51 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 145.71 रहा। यह राहुल की इस वर्ल्ड कप में लगातार दूसरी फिफ्टी है। इसके पहले के तीन मैच में लोकेश राहुल फ्लॉप रहे थे।

 

2. राहुल-विराट की पार्टनरशिप
विराट कोहली इस मैच में 26 पर आउट हो गए थे। उनका स्ट्राइक रेट भी 104 ही रहा, लेकिन उन्होंने केएल राहुल के साथ दूसरे विकेट के लिए 60 रन की पार्टनरशिप कर भारतीय पारी को बिखरने से रोक लिया। विराट इस वर्ल्ड कप में 5 मैचों में सिर्फ दूसरी बार आउट हुए हैं। इससे पहले वे साउथ अफ्रीका के खिलाफ आउट हुए थे। पाकिस्तान, नीदरलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ विराट नॉटआउट रहे थे।

विराट कोहली और केएल राहुल ने दूसरे विकेट की साझेदारी में 60 रन जोड़े।

विराट कोहली और केएल राहुल ने दूसरे विकेट की साझेदारी में 60 रन जोड़े।

3. सूर्या की 360 डिग्री बल्लेबाजी
13.3 ओवर तक भारत का स्कोर 101/4 था। यहां अगर और विकेट जल्दी गिर जाते तो टीम इंडिया के लिए 150 तक पहुंचना भी मुश्किल हो जाता, लेकिन इस वर्ल्ड कप के सबसे तूफानी बल्लेबाज साबित हुए सूर्य कुमार यादव के इरादे कुछ और ही थे। उन्होंने विकेट के चारों ओर जबरदस्त स्ट्रोक्स लगाए और जिम्बाब्वे के आक्रमण को तहस-नहस कर दिया। भारत ने आखिरी 39 गेंद पर 85 रन बना दिए। सूर्या ने 244 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की और सिर्फ 25 गेंदों पर 61 रन बनाए। इसमें 6 चौके और 4 छक्के शामिल रहे।

 

4. भुवी-अर्शदीप का शानदार ओपनिंग स्पेल
186 रन खाने के बाद जिम्बाब्वे से फाइट बैक की उम्मीद कम ही थी। फिर भुवनेश्वर कुमार और अर्शदीप सिंह ने बेहतरीन ओपनिंग स्पेल के जरिए जिम्बाब्वे की पारी को बिखेर कर रख दिया। भुवी ने पहला ओवर मेडन डाला। इस वर्ल्ड कप में उनका यह दूसरा मेडन है। इसमें उन्होंने एक विकेट भी लिया। अर्शदीप ने भी अपने पहले ओवर में ही विकेट लिया। हमारे इस ओपनिंग बॉलिंग पेयर ने पहले 5 ओवर में सिर्फ 21 रन खर्च किए और 2 विकेट हासिल कर लिए।

5. शमी का फायर पावर, अश्विन की फिरकी और पंड्या का कमाल
भुवी और अर्शदीप के बेहतरीन ओपनिंग स्पेल के बाद मोहम्मद शमी ने कमाल संभाली। उन्होंने जिम्बाब्वे की पारी का तीसरा और चौथा विकेट निकाला। पांचवां विकेट हार्दिक पंड्या ने लिया। 36 रन तक जिम्बाब्वे की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। रही-सही कसर रविचंद्रन अश्विन ने पूरी कर दी। उन्होंने 3 विकेट लिए।

Share this story