सड़क हादसे में घायल क्रिकेटर ऋषभ पंत को आज देहरादून से मुंबई एयरलिफ्ट किया जाएगा

 ऋषभ पंत

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ  
 

नई दिल्ली। सड़क हादसे में घायल क्रिकेटर ऋषभ पंत को आज देहरादून से मुंबई एयरलिफ्ट किया जाएगा। BCCI की मेडिकल टीम मुंबई में उनका इलाज करेगी। 30 दिसंबर 2022 को कार एक्सीडेंट में घायल होने के बाद रूड़की के हॉस्पिटल में इमरजेंसी ट्रीटमेंट के बाद उन्हें देहरादून के मैक्स हॉस्पिटल ले जाया गया था। तब से वे देहरादून के अस्पताल में ही भर्ती हैं।

एक्सीडेंट में पंत को सिर, घुटने और टखने में चोट आई थी। उनके घुटने के चार में से तीन लिगामेंट टूटने की बात सामने आई थी। ऐसे में अब BCCI की मेडिकल टीम ने बेहतर इलाज के लिए उन्हें देहरादून से मुंबई शिफ्ट करने का फैसला किया है। हालांकि, पंत ICU से बाहर लाए जा चुके हैं और अस्पताल के प्राइवेट वॉर्ड में उनका इलाज किया जा रहा है।

यह तस्वीर कार एक्सीडेंट के तुरंत बाद की है। हादसे के बाद कार पूरी तरह जल गई थी।

यह तस्वीर कार एक्सीडेंट के तुरंत बाद की है। हादसे के बाद कार पूरी तरह जल गई थी।

दिल्ली से घर जाते वक्त 30 दिसंबर को हुआ था एक्सीडेंट
भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकी ऋषभ पंत शुक्रवार सुबह हुए सड़क हादसे में बाल-बाल बचे थे। पुलिस के मुताबिक, झपकी लगने से यह हादसा हुआ था। उनकी मर्सिडीज अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई, जिसके बाद उसमें आग लग गई और पलट गई। एक्सीडेंट के बाद पंत जलती हुई कार की खिड़की तोड़कर खुद ही बाहर निकले। लोग बचाने पहुंचे तो बोले- मैं ऋषभ पंत हूं। उन्हें सिर, पीठ और पैर में गंभीर चोटें आई थीं।

चश्मदीद बोले- हाईवे के गड्ढे से 5 फीट उछली थी मर्सिडीज
इस हादसे के चश्मदीदों ने भास्कर को बताया था कि ऋषभ पंत की मर्सिडीज करीब 150 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चल रही थी। उसने एक गाड़ी को ओवरटेक किया। फिर सामने एक गड्‌डा आ गया। इससे उनकी कार 5 फीट तक उछलकर पहले बस से टकराई... फिर डिवाइडर से और घिसटते हुए उसमें आग लग गई। कार से निकलकर पंत रोड डिवाइडर पर ही बैठे हुए थे।​​​

चश्मदीदों ने बताया था कि हादसे के बाद ऋषभ पंत खुद ही कार से बाहर निकलकर आए थे।

चश्मदीदों ने बताया था कि हादसे के बाद ऋषभ पंत खुद ही कार से बाहर निकलकर आए थे।

एक्सपर्ट्स बोले- रिकवरी में लंबा समय लग सकता है
हादसे में पंत को पांच जगह चोटें आई हैं। इनमें माथा, दाहिने हाथ की कलाई, दाहिने पैर का घुटना, टखना और अंगूठा शामिल हैं। घुटने, टखने और कलाई की चोट अहम हैं, क्योंकि इनका इस्तेमाल विकेट कीपिंग के लिए जरूरी है।

पूर्व इंटरनेशनल विकेट कीपर नमन ओझा कहते हैं कि यदि घुटने के लिगामेंट फट जाए तो रिकवरी में टाइम लगता है। घुटने की सामान्य-सी चोट से रिकवर करने में कम से कम 6 और ज्यादा से ज्यादा 8 हफ्ते लगते हैं। विकेटकीपिंग में हर पॉइंट मैटर करता है। चोट कहीं की भी हो, प्रभावित करती है। फिर चाहे वह उंगली की चोट ही क्यों न हो। पंत के तो कलाई, घुटने और टखने तीनों जगह लगी हैं। वापसी में टाइम लगेगा। हालांकि, वह युवा है...जल्दी रिकवरी भी हो सकती है।

Share this story