राहुल गांधी की नेपाल यात्रा चर्चाओं में आई : खूबसूरत चीनी बला, जिसे 'हनी ट्रेप लेडी' भी कहते हैं  पार्टी में जिस महिला के साथ नजर आ रहे हैं, वो नेपाल में चीन की राजदूत होउ यांकी हैं

Rahul Gandhi's Nepal visit came into the limelight
राहुल गांधी की नेपाल यात्रा चर्चाओं में आई : खूबसूरत चीनी बला, जिसे 'हनी ट्रेप लेडी' भी कहते हैं  पार्टी में जिस महिला के साथ नजर आ रहे हैं, वो नेपाल में चीन की राजदूत होउ यांकी हैं

 Newspoint24/ newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ

नई दिल्ली।  कांग्रेस नेता राहुल गांधी(Rahul Gandhi Nepal Visit) की निजी नेपाल यात्रा पर भी 'राजनीतिक ग्रहण' लग गया है। काठमांडु के एक नाइट क्लब में पार्टी करते राहुल गांधी के एक फोटो ने सोशल मीडिया पर तूफान ला दिया है। भारत की राजनीति में भी बवाल खड़ा हो गया है। कहा जा रहा है कि राहुल गांधी पार्टी में जिस महिला के साथ नजर आ रहे हैं, वो नेपाल में चीन की राजदूत होउ यांकी(Hou Yanqi) हैं। होउ यांकी एक चीनी राजनयिक(diplomat) हैं, जो 2018 से नेपाल में राजदूत(Ambassador to Nepal) के रूप में कार्यरत हैं। तीखे नैन-नक्श वाली होउ यांकी को 'शातिर महिला' माना जाता है। उन्हें हनी ट्र्रेप लेडी (the honey trap lady) भी कहते हैं। पिछले कुछ सालों से नेपाल और भारत के बीच रिश्ते कुछ ठीक नहीं चल रहे। विशेषज्ञों का कहना है कि यह नेपाल में चीन के बढ़ते राजनीतिक प्रभाव का नतीजा है। चीन ने नेपाल में निवेश करके, पर्यटन, भूकंप के बाद के पुनर्निर्माण, व्यापार और ऊर्जा को टार्गेट करके यह सुनियोजित साजिश रची है। इस 'पॉलिटिक्स' को नेपाल में अंजाम देती रही हैं यांकी। होउ यांकी पर ही नेपाल के तत्कालीन प्रधानमंत्री(अब पूर्व) केपी शर्मा ओली को हनी ट्रैप में फंसाने का इल्जाम लगा था। कहा जाता है कि होउ के प्रेम जाल में ओली खुद फंस गए थे।   कौन है ये खूबसूरत चीनी बला...
 

एक समय था, जब भारत को नेपाल अपना बड़ा भाई मानता था। लेकिन चीनी लालच में वो ऐसा फंसा कि रिश्ते खराब कर लिए। अब खुद आर्थिक संकट में फंसता जा रहा है। दोनों देशों के बीच दरार डालने में होउ यांकी का बड़ी भूमिका मानी जाती है। बता दें कि नेपाल ने होउ यांकी के उकसाने पर ही लिंपुयाधारा कालापानी और लिपुलेख को अपने नक्शे में दर्शाया था। होउ एक शातिर कूटनीतिज्ञ(clever diplomat) मानी जाती हैं, जो पहले पाकिस्तान में भी रह चुकी हैं।

होउ यांकी अपनी फैशन स्टाइल और चतुराई से काम को अंजाम देने के लिए जानी जाती हैं। वे दक्षिण एशिया मामलों में डिप्टी डायरेक्टर जनरल के पद पर काम कर चुकी हैं। लॉस एंजलिस में भी चीन की कॉन्सुलेट जनरल रही हैं।


 

मार्च 1970 में चीन के शांक्सी प्रांत में जन्मी होउ यांकी मास्टर ऑफ आर्ट्स की चैंपियन हैं। होउ 1996 से चीन के विदेश विभाग में काम कर रही हैं।
 

2018 में होउ यांकी कोनेपाल में पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के राजदूत असाधारण और पूर्णाधिकारी(Ambassador Extraordinary and Plenipotentiary) के रूप में नियुक्त किया गया था।  वे स्थानीय लोगों में अपनी पैठ बनाने सांस्कृतिक और सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होकर गहरी पैठ बनाती हैं।

दिसंबर, 2020 में  नेपाल में सियासी उठापटक के बीच चीन की राजदूत होउ यांकी (Hou Yanqi) ने अपने प्रेमजाल में फंसे  केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) सरकार को बचाने ऐड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था। हालांकि वे नाकाम रहीं।

Share this story