'Kantara' के मेकर्स नहीं चाहते फिल्म का हिंदी रीमेक? वजह बताते हुए बॉलीवुड एक्टर्स पर कह दी बड़ी बात

'Kantara' के मेकर्स नहीं चाहते फिल्म का हिंदी रीमेक? वजह बताते हुए बॉलीवुड एक्टर्स पर कह दी बड़ी बात

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

मुंबई। कन्नड़ फिल्म 'कांतारा' (Kantara) बॉक्स ऑफिस (Box Office) पर जबर्दस्त कमाई कर रही है। फिल्म ने दुनियाभर में 250 करोड़ रुपए से ज्यादा का कलेक्शन कर लिया है और इसकी कमाई का सिलसिला अब भी जारी है।

फिल्म की सफलता को देखते हुए जाहिरतौर पर कई फिल्म इंडस्ट्रीज इसके रीमेक की तैयारी कर रही होंगी। खासकर हिंदी बेल्ट में इस तरह की सफल फिल्मों की रीमेक का ट्रेंड हमेशा से चलता आ रहा है। लेकिन फिल्म के डायरेक्टर और एक्टर ऋषभ शेट्टी (Rishab Shetty) नहीं चाहते कि 'कांतारा' को हिंदी में बनाया जाना चाहिए।

फिल्म पहले ही हिंदी में डब हो चुकी

फिल्म को पहले ही हिंदी में डब करके रिलीज किया जा चुका है और यह वर्जन बॉक्स ऑफिस पर लगभग 38.55 करोड़ रुपए का कलेक्शन कर चुका है।

जब एक हालिया इंटरव्यू में ऋषभ से पूछा गया कि क्या 'कांतारा' के हिंदी में रीमेक के कोई चांस नहीं हैं? तो उन्होंने कहा, "जी हां, यह अच्छा ही है।"

Kantara Director And Actor Rishab Shetty Does Not Want It To Remake In Hindi GGA

बॉलीवुड एक्टर को लेकर क्या कहा?

टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत के दौरान जब  ऋषभ से पूछा गया कि बॉलीवुड में ऐसा कौन एक्टर है, जो 'कांतारा' के हिंदी रीमेक में लीड रोल कर सकता है? तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा, "इस तरह का किरदार निभाने के लिए आपको जड़ों और संस्कृति में विश्वास करना होगा। हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में ऐसे कई एक्टर्स हैं, जिनकी मैं सराहना करता हूं। लेकिन मेरी रीमेक में कोई दिलचस्पी नहीं है।"

हिंदी मार्केट में साउथ फ़िल्में क्यों चल रहीं?

जब ऋषभ शेट्टी से पूछा गया कि क्या वजह है कि साउथ इंडियन फ़िल्में हिंदी मार्केट में अच्छा परफॉर्म कर रही हैं? तो उन्होंने जवाब दिया, "यह मौसमी है। हर इंडस्ट्री में उतार-चढ़ाव आते हैं।

हो सकता है कि दर्शक फिल्मों को बॉलीवुड, सैंडलवुड या अन्य में बांट ना रहे हों। लोग इसे भारतीय सिनेमा के रूप में देखते हैं। 'कांतारा' कन्नड़ फिल्म है, क्षेत्रीय सिनेमा। ऐसा ही हिंदी सिनेमा के लिए है। लोग भाषा की बाधा पार कर रहे हैं और देश के हर हिस्से का कंटेंट देख रहे हैं। भारतीय सिनेमा में हर फिल्म इंडस्ट्री का बड़ा योगदान है।"

फिल्म को ऑस्कर में भेजने की मांग पर 

'कांतारा' की सफलता और इसका कंटेंट देखने के बाद कई लोग इसे ऑस्कर में भेजने की मांग कर रहे हैं। जब इसे लेकर ऋषभ से रिएक्शन मांगा गया तो उन्होंने कहा, "मैं उस पर रिएक्ट नहीं करता।

मैंने सिर्फ 25000 ट्वीट देखे हैं। ये मुझे ख़ुशी देते हैं। लेकिन मैं इन पर कमेंट नहीं करता। क्योंकि मैंने इस सक्सेस के लिए काम नहीं किया। मैंने काम के लिए काम किया है।"

Share this story