बहन से थे युवक के अवैध संबंध, भाई ने जीजा के साथ मिलकर की हत्या, 80 टुकड़ों में मिला था नरकंकाल

बहन से थे युवक के अवैध संबंध, भाई ने जीजा के साथ मिलकर की हत्या, 80 टुकड़ों में मिला था नरकंकाल

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

रीवा। मध्य प्रदेश के रीवा के जंगल में 80 टुकड़ों में मिले नरकंकाल के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। हत्या के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दोनों आरोपित आपस में रिश्तेदार हैं और उनका जीजा-साले का रिश्ता है। बताया जा रहा है कि जिस युवक का कंकाल है उसने आरोपित की बहन के साथ अवैध संबंध बनाए थे जिससे गुस्साए भाई ने बहन के पति के साथ मिलकर उस युवक की हत्या कर दी। आरोपियों ने अपना जुर्म स्वीकार भी कर लिया है। 

जानकारी के मुताबिक पुलिस अधीक्षक रीवा नवनीत भसीन के मुताबिक एक युवक विकास गिरी (31) निवासी गांव छुहिया सरैया, थाना मऊगंज फरवरी में अपने घर से अचानक गायब हो गया था।

विकास के परिजनों ने मऊगंज थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पांच सितंबर को राहगीरों को जंगल से एक नरकंकाल छुहिया सरैया गांव से ढाई किलोमीटर दूर दुधमनिया के जंगल में दिखा।

पुलिस पहुंची तो नरकंकाल के कई टुकड़े थे जो आसपास बिखरे पड़े थे। पुलिस ने कंकाल के टुकड़ों को इकट्ठा किया तो पुलिस को नरकंकाल के 80 टुकड़े मिले।

पुलिस को कंकाल के बगल एक पैंट मिली जिसकी जेब में आधार कार्ड था। जिसके आधार पर पुलिस ने कंकाल की पहचान विकास गिरी(31) के रूप में की। पुलिस इसे हत्या का मामला मानकर जांच कर रही थी। 

अवैध संबंधों में हत्या की बात आई सामने 

पुलिस ने विकास के करीबी और दोस्तों से पूछताछ शुरू की। जिसके बाद कई चौंकाने वाले मामले सामने आए। पूछताछ के दौरान यूनुस बख्श निवासी दुधमनिया का नाम सामने आया, जिससे विकास का कई बार झगड़ा हुआ था।

लेकिन झगड़ा क्यों हुआ था ये बात कोई नहीं बता पाया। पुलिस ने सबसे पहले यूनुस बख्श को गिरफ्तार किया और उससे कडाई से पूछताछ की। जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ।

युनूस ने बताया कि विकास उसकी बहन पर बुरी नजर रखता था। कई बार समझाया पर वह नहीं माना। उसकी बहन के साथ विकास के अनैतिक संबंध भी बन गए थे।

ऐसे में वह अपने जीजा सुल्तान मोहम्मद के साथ मिलकर छुहिया सरैया गांव में लाठी-डंडे से हमलाकर विकास को मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद शव को लाकर जंगल में फेंक दिया था। पुलिस ने यूनुस के जीजा सुल्तान मोहम्मद को भी गिरफ्तार कर लिया। 

चार महीने जंगल में पड़ा था शव 

पुलिस अधीक्षक रीवा नवनीत भसीन ने बताया कि विकास की हत्या करीब चार महीने पहले आशनाई के चलते की गई थी। उन्होंने कहा कि हत्या के बाद शव को जंगल में फेंक दिया गया था, जहां चार महीने तक पड़ा रहने से शव गल गया। जिसके बाद कंकाल की हड्डियां वन्यजीवों ने बिखेर दी होंगी। पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद इस मामले को सुलझाया है।

Share this story