ये तो हद ही हो गई ! मस्क ने ट्विटर कर्मचारियों के खाने- पीने , वर्क फ्रॉम होम पर भी लगा दी पाबंदी

ads

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ  

नई दिल्ली।एलन मस्क (Elon Musk ) को शायद ही इस बात का अंदाजा रहा हो कि ट्विटर (Twitter) को टेकओवर करने के बाद वे जिंदगी के सबसे कठिन दौर से गुजरेंगे।  
माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म का कंट्रोल अपने हाथों में लेने के बाद मस्क अपनी नेटवर्थ से 200 अरब डॉलर गंवाकर इतिहास रच दिया है।

इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ है। सच कहा जाए तो टेस्ला, स्पेसएक्स और ट्विटर के सीईओ मस्क के लिए 2022 किसी बुरे सपने से कम नहीं था ! ट्विटर खरीदने के बाद उन्हें बिजनेस को मैनेज करने में परेशानी हुई।

बैक-टू-बैक फैसलों के बाद उन्होंने ट्विटर पर कई बदलाव किए, जिसका असर भी देखने को मिल रहा है। आइए जानते हैं मस्क के टेकओवर के बाद ट्विटर पर 5 बड़े बदलाव...

50% कर्मचारी आउट

कंपनी को टेकओवर करने के बाद मस्क का मानना ​​था कि हजारों कर्मचारी ऐसे हैं, जिससे कंपनी को फायदा नहीं हो रहा है। इसी के चलते उन कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। मस्क ने बेतरतीब तरीके से कर्मचारियों की छंटनी की। हजारों कर्मचारी तो ऐसे भी रहे, जिन्होंने खुद ही बाहर जाने का फैसला किया। 

वर्क कल्चर बदला, वर्क फ्रॉम होम खत्म

मस्क के आने के बाद ट्विटर का पूरा वर्क कल्चर ही बदल गया है। कंपनी ने वर्क फ्रॉम होम को पूरी तरह खत्म कर दिया और ऑफिस वापस न आने वाले एम्प्लॉइज से रिजाइन करने को कह दिया। 

ट्विटर हेडक्वार्टर को बेडरूम में बदल डाला

मस्क ने ट्विटर ऑफिस को बेडरुम में बल दिया है ताकि कर्मचारी लगातार काम कर सकें। हाल ही में, ट्विटर दफ्तरों की कुछ तस्वीरें भी वायरल हुईं, जिसमें बेड, सोफा, प्यूरिफायर और अन्य सुविधाओं के साथ बेडरूम में बदल दिया गया था।

मस्क ने अपने एक ईमेल में कहा था कि वे हफ्ते में सातों दिन चौबीसों घंटे काम करते हैं। इस बदलाव को इसी बयान से जोड़ा गया।

अब मुफ्त का कुछ भी नहीं

इतना ही नहीं मस्क ने पैसे बचाने के लिए कर्मचारियों को मिलने वाला फ्री का खाना भी बंद कर दिया। मस्क ने एक बार यह भी कहा था कि ट्विटर कर्मचारियों को जो मुफ्त में खाना खिलाया जाता है, उस पर सालाना 1 अरब रुपए से ज्यादा का खर्च आता है।

इसके साथ ही पैसे जुटाने के लिए मस्क ट्विटर मुख्यालय के अंदर फर्नीचर, बर्तन और कम इस्तेमाल होने वाली दूसरी चीजों को भी बेच रहे हैं।

Share this story