भारत का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट प्लेयर बना अदाणी, अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी का अधिग्रहण हुआ पूरा

भारत का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट प्लेयर बना अदाणी, अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी का अधिग्रहण हुआ पूरा

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

मुंबई। अदाणी परिवार ने अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड और एसीसी लिमिटेड का अधिग्रहण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। इस लेन-देन में सेबी के नियमों के अनुसार दोनों संस्थाओं में एक खुली पेशकश के साथ अंबुजा और एसीसी में होल्सिम की हिस्सेदारी का अधिग्रहण शामिल है।

अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के लिए होल्सिम की हिस्सेदारी और खुली पेशकश का मूल्य 6.50 बिलियन अमरीकी डॉलर है। यह अदाणी द्वारा किया गया अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है।

यह इंफ्रास्ट्रक्चर और मैटेरियल्स स्पेस में भारत का अब तक का सबसे बड़ा लेनदेन भी है। अदाणी की अंबुजा सीमेंट्स में 63.15% और एसीसी में 56.69% की हिस्सेदारी होगी। 

ग्रीन सीमेंट का होगा निर्माण

अदाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अदाणी ने कहा,"जो चीज सीमेंट को एक रोमांचक व्यवसाय बनाती है, वह भारत में विकास के लिए एक हेडरूम है। यह 2050 से आगे हर दूसरे देश से कहीं अधिक है।

सीमेंट एनर्जी कॉस्ट, लॉजिस्टिक्स और डिस्ट्रीब्यूशन कॉस्ट पर निर्भर इकोनॉमिक्स का खेल है। प्रोडक्शन के ट्रांसफॉर्मेशन के साथ-साथ महत्वपूर्ण सप्लाई चेन क्षमता हासिल करने के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म का लाभ उठाने की क्षमता रखता है। इनमें से प्रत्येक क्षमता हमारे लिए एक मुख्य व्यवसाय की तरह है।"

गौतम अदाणी ने कहा," इसके अलावा, दुनिया की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी कंपनियों में से एक के रूप में हमारी स्थिति हमें एक सर्कुलर इकोनॉमी के सिद्धांतों के अनुरूप प्रीमियम क्वालिटी वाले ग्रीन सीमेंट के निर्माण में मदद करेगी। ये सभी आयाम हमें 2030 तक सीमेंट का सबसे बड़ा और सबसे कुशल निर्माता बनने के लिए सही ट्रैक पर रखते हैं।"

67.5 एमटीपीए है उत्पादन क्षमता 

वर्तमान में अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी की संयुक्त रूप से स्थापित उत्पादन क्षमता 67.5 एमटीपीए है। दोनों कंपनियां भारत में सबसे मजबूत ब्रांडों में से हैं। उनकी 14 इंटीग्रेटेड यूनिट्स, 16 ग्राइंडिंग यूनिट्स, 79 रेडी-मिक्स कंक्रीट प्लांट्स और पूरे भारत में 78,000 से अधिक चैनल पार्टनर्स हैं।

अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी दोनों को इंटीग्रेटेड अदाणी इंफ्रास्ट्रक्चर प्लेटफॉर्म के साथ तालमेल से फायदा होगा। कच्चा माल, रिन्यूएबल एनर्जी और लॉजिस्टिक्स के क्षेत्रों में अदाणी पोर्टफोलियो कंपनियों के पास व्यापक अनुभव और गहरी विशेषज्ञता है।

ईएसजी, सर्कुलर इकोनॉमी और कैपिटल मैनेजमेंट फिलॉसफी पर अदाणी के फोकस से अंबुजा और एसीसी को भी फायदा होगा। एसडीजी 6 (स्वच्छ पानी और स्वच्छता), एसडीजी 7 (सस्ती और स्वच्छ ऊर्जा), एसडीजी 11 (सतत शहर और समुदाय) और एसडीजी 13 (जलवायु कार्रवाई) पर स्पष्ट ध्यान देने के साथ, इन व्यवसायों को संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों के साथ गहराई से जोड़ा जाना जारी रहेगा। 

Share this story