जेफ बेजोस को पछाड़कर दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी बने गौतम अडाणी, इस नंबर पर हैं मुकेश अंबानी

जेफ बेजोस को पछाड़कर दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी बने गौतम अडाणी, इस नंबर पर हैं मुकेश अंबानी

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

नई दिल्ली। अरबपति गौतम अडाणी (Gautam Adani) दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उन्होंने अमेजन के जेफ बेजोस को पीछे छोड़ दिया है। फोर्ब्स की रीयल-टाइम अरबपतियों की सूची में उन्हें दूसरे नंबर पर रखा गया है।

अडाणी ग्रुप के चेयरपर्सन और अरबपति गौतम अडाणी अमेजन के जेफ बेजोस को पछाड़कर दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी बन गए हैं। फोर्ब्स की रीयल-टाइम अरबपतियों की सूची के अनुसार, अडाणी की कुल संपत्ति करीब 154.7 अरब डॉलर होने का अनुमान है।

पहले नंबर पर हैं एलोन मस्क 

फोर्ब्स के आंकड़ों के अनुसार अडाणी टेस्ला के एलोन मस्क से पीछे हैं। 273.5 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ एलोन मस्क दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं।

फ्रांस के बर्नार्ड अरनॉल्ट अपने परिवार की कुल संपत्ति लगभग 153.8 बिलियन डॉलर के साथ सूची में तीसरे स्थान पर हैं। जेफ बेजोस 149.7 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ लिस्ट में चौथे नंबर पर हैं।

आठवें स्थान पर हैं मुकेश अंबानी 

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी 92.1 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ आठवें स्थान पर हैं। शीर्ष दस की सूची में अन्य अरबपतियों में बिल गेट्स, लैरी एलिसन, वॉरेन बफेट, लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन शामिल हैं।

अगस्त में अडाणी दुनिया के तीसरे सबसे अमीर आदमी बने थे। उन्होंने लुई वीटन बॉस अरनॉल्ट को पीछे छोड़ दिया था। यह पहली बार था कि किसी एशियाई को शीर्ष तीन अरबपतियों में स्थान दिया गया था।

छोड़ दी थी कॉलेज की पढ़ाई 

गौरतलब है कि 60 साल के अडाणी का कारोबार बंदरगाहों, कमोडिटी ट्रेडिंग, कोयला खनन और खाद्य तेलों से लेकर हवाई अड्डों और मीडिया तक फैला हुआ है। अडाणी समूह भारत का दूसरा सबसे बड़ा समूह है।

अडाणी का जन्म गुजरात के अहमदाबाद के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। उन्होंने 1988 में अपना निर्यात व्यवसाय शुरू करने से पहले हीरा उद्योग में काम करने के लिए कॉलेज की पढ़ाई छोड़ दी थी। 

1995 में उन्होंने गुजरात के मुंद्रा में एक कमर्शियल शिपिंग पोर्ट बनाने और संचालित करने का एक अनुबंध जीता था। यह आज  भारत का सबसे बड़ा बंदरगाह है। इसके बाद अडाणी ने भारत और विदेशों में थर्मल पावर जेनरेशन और कोयला खनन में कारोबार का विस्तार किया।

हाल के वर्षों में अडाणी समूह ने अक्षय ऊर्जा व्यवसाय स्थापित करने के अलावा, पेट्रोकेमिकल्स, सीमेंट, डेटा सेंटर और कॉपर रिफाइनिंग के क्षेत्र में प्रवेश किया है।

Share this story