क्या सच में नौकरियां चट कर सकता है AI चैटबॉट, कहीं आपकी जॉब पर भी तो खतरा नहीं

sad

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

 नई दिल्ली। टेक्नोलॉजी की दुनिया में पिछले कुछ समय से OpenAI का AI चैटबॉट ChatGPT सुर्खियों में रहा है। यह वही सॉफ्टवेयर है, जिसने गूगल मैनेजमेंट (Google) को ‘कोड रेड’ जारी करने के लिए मजबूर कर दिया था। अब इसे नौकरियों के लिए खतरा बताया जा रहा है।

आखिर यह किस तरह से जॉब्स को प्रभावित कर सकता है? क्या सच में इससे नौकरियां जाने का खतरा है या फिर सिर्फ अफवाह, यहां जाने ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब... 

आखिर क्या बला है AI चैटबॉट

ChatGPT एक जेनरेटिव प्री ट्रेन सॉफ्टवेयर है जो AI टूल है। गूगल से अलग अपने जवाबों को पेश करता है। मतलब एआई चैटबॉट पर आपको जवाब लिंक्स से नहीं बल्कि खुद से फ्रेम करके देता है।

यह आसानी से समझ आने वाली भाषा में किसी भी विषय को समझाता है। ये इतनी अच्छी तरह जवाब समझाता है कि वे मशीनी नहीं बल्कि असली लगते हैं।

AI टूल का उपयोग कैसे हो रहा है

जब ChatGPT पब्लिक डोमेन में आया तो बड़ी संख्या में लोगों ने AI के साथ एक्सपेरिमेंट्स भी किए। कुछ लोगों कंम्प्यूटर कोंडिंग लिखवाने तो कुछ लोग अपने कोड में बग ढूंढने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।

कुछ तो बच्चों को रात में सुनाने के लिए कहानियां तक लिखवा लेते हैं वहीं, कुछ गानों की लिरिक्स मांगते हैं। इसका मतलब यह है कि यह टूल काफी पावरफुल भी है। 

कैसे नौकरियां खा जाता है AI टूल

चूंकि AI टूल का इस्तेमाल कई चीजों के लिए किया जाता है और यह मशीनी न होकर इंसानी भाषा लगता है। यह इतना पावरफुल है कि कॉल सेंटर में जॉब करने वाले या किसी राइटिंग सेक्टर में वर्क करने वालों के लिए खतरा बन सकता है। क्योंकि यह अकेले ही यह सब करने में सक्षम है।

क्या इस टूल से कोई और भी खतरा

जी हां, एक रिपोर्ट के अनुसार, किसी चीज को लिखने में एआई टूल फैक्ट्स गलत दे सकता है। दरअसल, रिपोर्ट में बताया गया है कि जब इस बॉट से Microsoft की त्रैमासिक कमाई के बारे में आर्टिकल लिखने की डिमांड की गई तो इसने काफी अच्छी कॉपी तैयार की लेकिन एक रिपोर्ट में अपनी विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला का एक नकली कोट भी दे दिया था। अगर कोई अनजान शख्स इसे पढ़ता तो सही भी मान सकता था। इससे फैक्ट्स का खतरा बढ़ सकता है।

Share this story