पूर्व अग्निवीरों को CISF, BSF में 10% आरक्षण:पहले बैच को आयुसीमा में 5 साल की छूट मिलेगी

पूर्व अग्निवीरों को CISF, BSF में 10% आरक्षण:पहले बैच को आयुसीमा में 5 साल की छूट मिलेगी

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ 

 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गुरुवार को अग्निवीर स्कीम पर बड़ा फैसला किया। फैसले के मुताबिक, पूर्व अग्निवीरों को CISF, BSF में 10% आरक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा, इन्हें फिजिकल में भी छूट मिलेगी।

 

BSF डीजी नितिन अग्रवाल और CISF डीजी मीना सिंह ने यह जानकारी दी। नितिन अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया, ' हमारे पास तैयार सैनिक हैं, इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता। इसका फायदा सभी फोर्सेस को होगा। साथ ही पूर्व अग्निवीरों को भर्ती में 10% आरक्षण मिलेगा।”

दरअसल 18 जून 2022 को गृह मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी करके CAPF और असम राइफल्स में भर्ती में पूर्व अग्निवीरों को 10% आरक्षण का फैसला लिया था। CAPF के अंतर्गत बीएसएफ, सीआरपीएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, और सीआईएसएफ आती हैं।

अब उस बीच CISF में अग्निवीरों के लिए 10 प्रतिशत पद आरक्षित कर सरकार ने बड़ा दांव चल दिया है। इसके मायने इसलिए हैं क्योंकि इस योजना के विरोध में बोलने वाले मानते हैं कि अग्निवीरों का भविष्य सुरक्षित नहीं रह पाता है, सेना को सेवा देने के बाद उनके पास कुछ करने के लिए नहीं रह जाता। इस बीच सरकार ने इस प्रकार का फैसला लेकर साफ कर दिया है अग्निवीरों के पास विकल्प की कोई कमी नहीं रहने वाली है।

वैसे CISF ने भी जारी बयान में कह दिया है कि पूर्व अग्निवीरों को ना सिर्फ आरक्षण दिया जाएगा बल्कि उन्हें फिजिकल टेस्ट में रियायत भी मिलेगी। जानकारी के लिए बता दें कि इस समय अग्ननिवीर का मुद्दा गरमाया हुआ है, कांग्रेस से लेकर दूसरे विपक्षी दल इसे लेकर सरकार को घेर रहे हैं। देश की संसद में भी राहुल गांधी ने मुआवजे की बात कर फिर अग्निवीरों को मिलने वाले अधिकारों पर बहस छेड़ दी थी। अब इस बीच सरकार के इस फैसले ने अग्निवीरों को बड़ी राहत देने का काम किया है।

वैसे अगर सरकार की इस योजना की बात करें तो अग्निवीर का वेतन 30,000 रुपये से 40,000 रुपये प्रति महीने है। इसके साथ ही वो जोखिम और कठिनाई भत्ते के हकदार हैं। इस योजना में एक सेवा निधि अंशदायी पैकेज भी है, जिसके तहत अग्निवीर अपनी मासिक परिलब्धियों का 30% योगदान करते हैं, और सरकार भी उतनी ही राशि का योगदान करती है। चार साल पूरे होने पर उन्हें पैकेज से लगभग 11.71 लाख रुपये (ब्याज सहित) मिलेंगे और इस पर आयकर से छूट मिलेगी।

Share this story