रेसलर विनेश फोगाट की भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंहचेतावनी : बेटियां अगर सामने आकर बताने लगीं कि उनके साथ क्या-क्या हुआ तो देश का दुर्भाग्य होगा 

रेसलर विनेश फोगाट की भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंहचेतावनी : बेटियां अगर सामने आकर बताने लगीं कि उनके साथ क्या-क्या हुआ तो देश का दुर्भाग्य होगा

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ 
 

नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ जारी देश की महिला पहलवानों के मोर्चे के बाद गुरुवार को मंत्रालय ने पीड़ित खिलाड़ियों को बातचीत के लिए बुलाया और उनसे करीब एक घंटे तक बातचीत की। बातचीत से पहलवान संतुष्ट नहीं हैं। उनकी मांग पहले WFI अध्यक्ष को हटाने की थी, अब वे कुश्ती संघ को भंग कराना चाहते हैं। उन्होंने कहा- मांग पूरी होने तक उनका धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा। इधर, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कल (शुक्रवार को) खिलाड़ियों के धरने में हरियाणा की खाप पंचायतें भी शामिल हो सकती हैं।

खेल मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पहलवानों ने पहले अपने साथियों से बात की, उसके बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी।

( खेल मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पहलवानों ने पहले अपने साथियों से बात की, उसके बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी। )

बता दें कि WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और कुछ कोच पर ओलिंपिक विजेता खिलाड़ियों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। दिल्ली के जंतर-मंतर पर 200 से ज्यादा खिलाड़ी बुधवार यानी 18 जनवरी से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। आरोपों के बाद खेल मंत्रालय भी मामले को लेकर तुरंत एक्टिव हो गया। बुधवार देर रात उसने कुश्ती संघ को नोटिस भेजा और 72 घंटे में जवाब देने को कहा। ऐसा न करने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दे डाली। खेल मंत्रालय से मीटिंग खत्म होने के बाद पहलवानों ने मीडिया से बातचीत की। पढ़ें पहलवानों ने क्या कहा...

विनेश फोगाट: हमारा एक-एक दिन कीमती है। बैठक में हमें संतोषजनक जवाब नहीं मिला है। हमारे जो आरोप हैं, वो सच्चे हैं। हमें मजबूर न किया जाए सबसे सामने आने के लिए। हम अपने सम्मान के लिए लड़ रहे हैं। हम पूरे देश को यह नहीं बताना चाहते कि देश की बेटियों के साथ क्या हुआ है। जिस दिन सारी लड़कियां मीडिया को बताएंगी कि हमारे साथ क्या हुआ, वो कुश्ती का दुर्भाग्य होगा।

विनेश फोगाट हरियाणा की रहने वाली हैं। वे दंगल फेम महावीर सिंह फोगाट की भतीजी हैं और एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट हैं।

(विनेश फोगाट हरियाणा की रहने वाली हैं। वे दंगल फेम महावीर सिंह फोगाट की भतीजी हैं और एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट हैं।)

हम अध्यक्ष का इस्तीफा भी चाहते हैं और अध्यक्ष को जेल भी भिजवाएंगे। हमारे साथ बहुत गलत हुआ है। हम बिना सबूत यहां नहीं बैठे हैं। अध्यक्ष दो मिनट मेरे सामने आंखों में आंखें में डाल कर बोल दें कि गलत नहीं किया है। हमारी लड़ाई लड़कियों को शोषण से बचाना है। अगर हम भी सुरक्षित नहीं हैं तो हिंदुस्तान में एक भी लड़की पैदा नहीं होनी चाहिए। अध्यक्ष ने यूपी की कुश्ती खत्म कर दी है। अगर हमारी मांग नहीं मानी गई तो हम इन लड़कियों के साथ FIR कराएंगे। WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को जेल भिजवाएंगे।

बजरंग पूनिया ने टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

(बजरंग पूनिया ने टोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।)

बजरंग पूनिया: हमारे साथ हिंदुस्तान के सारे रेसलर हैं। अध्यक्ष ने कहा था सबूत दो तो फांसी पर लटक जाऊंगा। पहले हमारे साथ दो लड़कियां थीं, अब हमारे साथ विद प्रूफ 6-7 लड़कियां हैं, जिनका अध्यक्ष ने शोषण किया है। हम पीछे नहीं हटेंगे। हम सिर्फ इस्तीफे से संतुष्ट नहीं होंगे। हम फेडरेशन को भंग कराना चाहते हैं।

साक्षी मलिक ने रियो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

(साक्षी मलिक ने रियो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।)

साक्षी मलिक: बैठक में हमें सिर्फ आश्वासन दिया गया है। हम आश्वासन से संतुष्ट नहीं है। हमें हमें ठोस कार्रवाई चाहिए।

22 जनवरी को कुश्ती महासंघ की बैठक, पद छोड़ सकते हैं सिंह
न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक कुश्ती महासंघ की एग्जीक्यूटिव कमेटी की सालाना बैठक (AGM) 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाली है। संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह भी इस बैठक में शामिल होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंह इस बैठक में अपने इस्तीफे की घोषणा कर सकते हैं।

बजरंग पुनिया ने वृंदा करात को मंच से उतारा

गुरुवार को कम्युनिस्ट पार्टी की नेता वृंदा करात खिलाड़ियों मंच पर पहुंची तो उन्हें खिलाड़ियों ने नीचे उतरने को कह दिया।

(गुरुवार को कम्युनिस्ट पार्टी की नेता वृंदा करात खिलाड़ियों मंच पर पहुंची तो उन्हें खिलाड़ियों ने नीचे उतरने को कह दिया।)

इससे पहले धरने के दौरान कम्युनिस्ट पार्टी CPI(M) की नेता वृंदा करात स्टेज पर चढ़ गई। उनसे बजरंग पुनिया ने नीचे आने का आग्रह किया। बजरंग ने कहा कि, प्लीज इस मुद्दे को राजनितिक मत बनाइए। हमारी लड़ाई फेडरेशन से है न की सरकार से।

3 बड़े बयान...
1. बजरंग पूनिया: 
हम देश के लिए खेलते हैं, उसके लिए लड़ते हैं। यह जो लड़ाई चल रही है, वह हमारे सम्मान की लड़ाई है।
2. WFI चीफ: एक भी आरोप सही निकले तो फांसी पर चढ़ा देना। प्रदर्शन कर रहे खिलाड़ी ओलिंपिक मेडल नहीं जीत सकते। उनमें गुस्सा है, प्रदर्शन इसीलिए कर रहे।
3. भाजपा नेता बबीता फोगाट: जहां आग होती है, धुआं वहीं से निकलता है। कोशिश करूंगी कि इन लोगों की शिकायत का हल आज ही हो।

ये फोटो बुधवार की है। जंतर-मंतर पर धरने के दौरान साक्षी मलिक (सबसे बाएं), विनेश फोगाट (बीच में) और बजरंग पूनिया। विनेश बात करते-करते भावुक हो गईं।

(ये फोटो बुधवार की है। जंतर-मंतर पर धरने के दौरान साक्षी मलिक (सबसे बाएं), विनेश फोगाट (बीच में) और बजरंग पूनिया। विनेश बात करते-करते भावुक हो गईं।)

आज के बड़े अपडेट्स...

  • महावीर फोगाट बोले- लड़ाई अध्यक्ष के खिलाफ, संघ या सरकार से कोई लेना-देना नहीं।
  • प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा- इन खिलाड़ियों की आवाज सुनी जानी चाहिए।
  • चैंपियन रेसलर और भाजपा नेता बबीता फोगाट ने कहा- सरकार पहलवानों के साथ, आज मामला सुलझ जाएगा।

Share this story