आज का पंचाग 20 जनवरी 2023 शुक्रवार : माघ कृष्ण पक्ष, त्रयोदशी , मासिक शिवरात्रि

panchang

Newspoint24/ज्योतिषाचार्य प. बेचन त्रिपाठी दुर्गा मंदिर , दुर्गा कुंड ,वाराणसी

Panchang

आज का पंचाग 20 जनवरी 2023 शुक्रवार  

मासिक शिवरात्रि आज

 

धर्म ग्रंथों के अनुसार, प्रत्येक महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि का व्रत किया जाता है। इसे शिव चतुर्दशी भी कहते हैं। इस दिन भगवान शिव की पूजा विशेष रूप से की जाती है। शिव चतुर्दशी पर दिन भर उपवास किया जाता है और रात के चारों प्रहर में पूजा करने का विधान है। मान्यता है कि शिव चतुर्दशी का व्रत करने से हर तरह की परेशानी दूर हो सकती है।

20 जनवरी का पंचांग (Aaj Ka Panchang 20 Januray 2023)

 

20 जनवरी 2023, दिन शुक्रवार को माघ मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि सुबह 10 बजे तक रहेगी, इसके बाद चतुर्दशी तिथि आरंभ हो जाएगी। इस दिन मासिक शिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा। शुक्रवार को मूल नक्षत्र दोपहर 12.40 तक रहेगा, इसके बाद पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र रात अंत तक रहेगा। शुक्रवार को पहले मूल नक्षत्र होने से सुस्थिर और इसके बाद पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र होने से वर्धमान नाम के 2 शुभ योग इस दिन बनेंगे। इनके अलावा व्याघात और हर्षण नाम के 2 अन्य योग भी इस दिन रहेंगे। राहुकाल सुबह 11:16 से दोपहर 12:37 तक रहेगा।

ग्रहों की स्थिति कुछ इस प्रकार रहेगी…

शुक्रवार को चंद्रमा धनु राशि में, शनि कुंभ राशि में, सूर्य और शुक्र मकर राशि में, बुध (वक्री) धनु राशि में, राहु मेष राशि में, मंगल वृष राशि में, गुरु मीन राशि में और केतु तुला राशि में रहेंगे। शुक्रवार को पश्चिम दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए। अगर  यात्रा करना जरूरी हो तो जौ या राईं खाकर घर से बाहर निकलें।

सूर्योदय    06:45 ए एम
सूर्यास्त    05:33 पी एम
चन्द्रोदय    06:16 ए एम, जनवरी 21
चन्द्रास्त    03:46 पी एम
तिथि    त्रयोदशी - 09:59 ए एम तक उपरांत चतुर्दशी - 06:17 ए एम, जनवरी 21 तक
नक्षत्र    मूल - 12:40 पी एम तक उपरांत पूर्वाषाढा
योग    व्याघात - 06:58 पी एम तक उपरांत हर्षण
करण    वणिज - 09:59 ए एम तक उपरांत उपरांत विष्टि - 08:10 पी एम तक उपरांत शकुनि - 06:17 ए एम, जनवरी 21 तक
चन्द्र राशि    धनु
सूर्य राशि    मकर
अभिजित मुहूर्त    11:47 ए एम से 12:31 पी एम

अशुभ समय
राहुकाल    10:48 ए एम से 12:09 पी एम
यमगण्ड    02:51 पी एम से 04:12 पी एम
गुलिक काल    08:06 ए एम से 09:27 ए एम
वर्ज्य    11:15 ए एम से 12:40 पी एम उपरांत 09:04 पी एम से 10:28 पी एम
दुर्मुहूर्त    08:55 ए एम से 09:38 ए एम उपरांत 12:31 पी एम से 01:14 पी एम
भद्रा    09:59 ए एम से 08:10 पी एम
गण्ड मूल    06:45 ए एम से 12:40 पी एम

निवास और शूल
होमाहुति    केतु
दिशा शूल    पश्चिम
अग्निवास    पृथ्वी - 06:17 ए एम, जनवरी 21 तक उपरांत आकाश
चन्द्र वास    पूर्व
राहु वास    दक्षिण-पूर्व
भद्रावास    पाताल - 09:59 ए एम से 08:10 पी एम तक
शिववास    भोजन में - 09:59 ए एम तक उपरांत श्मशान में - 06:17 ए एम, जनवरी 21 तक

Share this story