कुंडली बॉर्डर पर किसान ने जहर खाकर की खुदकुशी

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब निवासी किसान कुछ दिन पहले ही किसान आंदोलन में हुआ था शामिल 

Newspoint24.com/newsdesk/

नई दिल्ली । कुंडली बॉर्डर पर शनिवार शाम एक किसान ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए कुंडली स्थित अस्पताल की मोर्चरी में सुरक्षित रखवा दिया है। परिवार के आने के बाद ही शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। उधर, घटना के बाद किसानों में सरकार को लेकर काफी रोष है। उनका कहना है कि सरकार कितने और किसानों को मानसिक रूप से परेशान करवाकर उनकी मौत देखेगी। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 


जानकारी के मुताबिक मृतक किसान की पहचान अमरिंदर सिंह के रूप में हुई है। वह फतेहगढ़ साहिब पंजाब का निवासी था। कुंडली थाना पुलिस को शनिवार शाम करीब छह बजे अस्पताल से खुदकुशी की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया।  पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस ने घटनास्थल से भी कुछ सबूत इकट्ठा किए हैं। शुरुआती जांच में पता चला है कि अमरिंदर कुछ दिन पहले ही कुंडली पर किसान आंदोलन में शामिल होने आया था। वह पंजाब में खेती करता है।


उसके साथियों ने पुलिस को बताया कि दोपहर तक वह बिल्कुल सही था लेकिन जिस तरह से सरकार से बातें असफल हो रही थीं उससे वह काफी दुखी था।  शाम के वक़्त अमरिंदर के मुंह से झाग निकलता देखा गया तुरंत एम्स अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शव को कुंडली स्थित सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है। 


पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जहर पहले से ही साथ लाया था या फिर उसने यहीं पर किसी से लिया?इस बारे में जांच की जा रही है। 
बता दें कि कुछ दिन पहले भी टिकरी बॉर्डर पर किसान ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। वहीं किसान आंदोलन में अब तक थह से ज्यादा किसान खुदकुशी कर चुके हैं। 

Share this story